पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Patiala
  • More Than 400 Dharnas In 100 Days: Traffic System Deteriorated, It Takes Half An Hour To Cover A Distance Of 5 Minutes

धरनाें का शहर:100 दिन में 400 से अधिक धरने,: ट्रैफिक व्यवस्था बिगड़ी, 5 मिनट की दूरी तय करने में लग रहा आधा से एक घंटा

पटियाला14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सीएम सिटी इस समय धरनों का शहर बन चुकी है। जगह-जगह धरने चल रहे हैं। इससे शहर के लाेग परेशान हैं। शाही शहर में बीते 100 दिनों में 400 से अधिक धरने या ताे दिए जा चुके हैं या चल रहे हैं। इसमें से पिछले 15 दिन में 60 से अधिक धरने दिए गए। ऐसे में राेजाना 4 से अधिक धरने लग रहे हैं। धरनाकारियाें की एक ही मांग है कि उनकाे रेगुलर किया जाए। जिसमें नौकरी और पे कमीशन की कमियां दूर करने का मुद्दा शामिल है। शहर में इस समय ठीकरी वाला चौक पर ठेका मुलाजिमों का पक्का मोर्चा चल रहा है। इसके चलते रूट को डायवर्ट किया गया है।

ट्रैफिक संगरूर रोड से हाेकर राजिंदरा अस्पताल होते हुए लीलाभवन चौक पर निकल रहा है। इस कारण लंबा जाम लग रहा है। पक्का मोर्चा के चलते राजिंदरा अस्पताल से आने वाले मरीज, संगरूर जाने वाले यात्रियों काे काफी परेशानी हो रही है। पांच मिनट की दूरी तय करने में कम से कम आधा घंटा लग रहा है। दूसरा धरना पासी रोड पर पुलिस की नौकरी की मांग को लेकर चल रहा है।

यहां पर भी रूट डायवर्ट है, पासी रोड का रूट नाभा रोड की तरफ निकलता है। इस रोड पर फिजिकल कॉलेज, मल्टीपर्पज स्कूल है। रूट बंद होने से लोग दूसरे रास्ते से जा रहे हैं। गुरुद्वारा श्री दुखनिवारण चौक पर बस स्टैंड पर टीचरों का पक्का मोर्चा चल रहा है। बस स्टैंड के अंदर मुलाजिमों का धरना चल रहा है और बसों की हड़ताल भी चल रही है। बताया जा रहा है कि बस स्टैंड पर हड़ताल खत्म हाे गई है। अाज से बसें चल सकती हैं। राजपुरा रोड पर नए बस स्टैंड का कम चल रहा है, जिसके चलते डीएमडब्ल्यू की तरफ रूट डायवर्ट किया गया है।

पासी राेड बंद न होने से वाहन चालक हाे रहे परेशान

पुलिस भर्ती के लिए ज्वाइनिंग लेटर की मांग काे लेकर सात दिन से पासी राेड पर पानी की टंकी पर चढ़कर प्रदर्शन करने और राेड जामकर विराेध जताने वाले नाैजवानाें पर तीन दिन पहले देर रात तेज रफ्तार कार चालक ने गाड़ी चढ़ाने की काेशिश की थी। उसके बाद भले ही धरना स्थल के दाेनाें ओर 200-200 मीटर का रास्ता बंद करके बैरीकेडिंग की गई हाे लेकिन पासी राेड से गुरुद्वारा दुखनिवारण साहिब से आने वाले राेड काे बंद नहीं किया गया। जिस कारण अनजान लाेग पासी राेड से नाभा राेड जाने के लिए पहुंच जाते हैं। आगे जाकर रास्ता बंद मिलने पर उन्हें लाैटना पड़ता है।

खबरें और भी हैं...