पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राजपुरा ब्लास्ट:घर में जमीन पर फोड़ने वाले बम बनाता था पड़ोसी किशन

पटियाला2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शनिवार सुबह साढ़े 10 बजे राजपुरा के गांव जंडाेली के संत नगर में एक में रखे पटाखाें में धमाका हो गया था। हादसे में एक ही परिवार के दो बच्चों की मौत हो गई थी, वहीं पड़ोस के दो बच्चे जख्मी हो गए थे। 6 साल के कृष्णा काे साेमवार देर शाम राजिंदरा अस्पताल से छुट्टी देकर घर भेज दिया गया था। पीजीआई में दाखिल 7 साल की पल्लवी की हालत सीरियस है। मॉसी काजल के मुताबिक डॉक्टर उसकी हालत पर नजर रखे हैं। दूसरी ओर पुलिस ने जाे एफआईईर दर्ज की है, उसमें पल्लवी के नाना के बयान दर्ज हैं। शिकायतकर्ता निक्कू राम निवासी छाबड़ा कॉलोनी नजदीक लाला वाला पीर गांव जंडाेली ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि उसकी चार बेटियां हैं और एक बेटा। सबसे बड़ी बेटी की 4 साल पहले मौत हो चुकी है। उसके दोनाें बच्चे पल्लवी और कृष्णा उनके पास रहकर पढ़ाई करते हैं।

उनके पड़ोस में किशन कुमार और उसकी पत्नी मीना रानी अपने दो बच्चों के साथ रहती है। शनिवार सुबह वह अपने घर पर था। उसका पड़ोसी किशन कुमार और उसकी पत्नी घर पर नहीं थे। उनके दोनों बच्चे घर में थे। उसका दोहोता कृष्णा और दोहती पल्लवी किशन के घर उनके बच्चों के साथ खेलने गए थे। करीब 10:30 बजे सुबह उसे बाहर धमाके की आवाज सुनाई दी। तेजी से घर से बाहर निकला और देखा किशन कुमार का घर गिर गया है और धुआं निकल रहा है। इतने में मौके पर अन्य लोग जमा हो गए।

घर के अंदर जाकर देखा तो वहां चारों बच्चे दबे थे। सभी बुरी ताह से जले थे। उन्हें निकालकर अस्पताल पहुंचाया। किशन की बेटी मनप्रीत की मौके पर ही मौत हो गई थी। निक्कू ने बताया कि उसे पता चला है कि किशन अपने घर में पाेटाश, गंधक, बजरी की मदद से धरती पर मारकर चलने वाला बम बनाना था।

यह हादसा क्रिशन कुमार की ओर से उसके मकान में बम का स्टॉक रखने, बम के फटने के कारण, उसकी लापरवाही से हुआ है। उसके बयान पर पुलिस ने आरोपी किशन कुमार के खिलाफ एक्सप्लोसिव एक्ट सहित दूसरी धाराओं में केस दर्ज किया है। पुलिस के मुताबिक मामले को लेकर जांच की जारी है। सभी पहलुओं को देखने के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...