पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पॉश काॅलोनी में इल्लीगल पॉवर:सात साल में किसी के घर अपना मीटर नहीं, कॉलोनाइजर ने 50 केवीए मीटर से दिए हैं कनेक्शन

पटियाला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बिजली का रेट 9 रुपए प्रति यूनिट है, लेकिन यहां पर 6 रुपए लेते हैं - Dainik Bhaskar
बिजली का रेट 9 रुपए प्रति यूनिट है, लेकिन यहां पर 6 रुपए लेते हैं
  • 200 प्लाट के सन्नी एन्क्लेव में 100 कोठियां, सबको सबमीटर
  • 10 गुणा लोड से रोज ट्रिपिंग

पटियाला-देवीगढ़ रोड पर घलौड़ी गेट के पास पॉश कॉलोनियों में से एक मानी जाती सन्नी एनक्लेव के 100 घरों को 7 साल बाद भी बिजली मीटर नहीं लगने का मामला अब मुख्यमंत्री दरबार पहुंच गया है। असल में इन 100 घरों के लोगों का कहना है कि जब से उन्होंने इस कॉलोनी में लाखों-करोड़ों रुपए खर्च करके घर लिया है तब से ही उन्हें बिजली कनेक्शन लेने के लिए धक्के खाने पड़ रहे हैं।

26 बार पुडा और पावरकॉम अधिकारियों को मिल चुके हैं। एक बार मुख्यमंत्री और सांसद परनीत कौर की बेटी जयइंदर कौर से मिल चुके हैं, लेकिन जब समस्या हल न हुई तो अब थक हार कर सीएम से गुहार लगाई है। सन्नी एनक्लेन वेलफेयर एसोसिएशन प्रधान आरएल भसीन बताते हैं कि पंजाब के बड़े कॉलोनाइजर ने यहां 2002-2003 में कॉलोनी तैयार की थी।

यहां करीबन 7 साल पहले लोगों ने मकान लिए, लेकिन बिजली कनेक्शन नहीं मिला। कहने को डेवलपर्स ने अपने नाम पर एक बिजली कनेक्शन ले रखा है, इसी 50 केवीए के बिजली मीटर से एन्क्लेव में रहते करीब 100 घराें काे सब मीटर के जरिए कनेक्शन दिया गया है। एक मीटर से सब मीटर चलने पर कई घराें में सप्लाई सही से नहीं पहुंचती है।

एसाे. के मुताबिक जाे सब-मीटर कनेक्शन उनके घराें में लगे हैं, बाजवा डेवलपर्स साढ़े छह रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से बिजली बिल वसूलता हैं, जबकि राज्य भर में बिजली प्रति यूनिट्स करीब 9 रुपये उपभाेक्ता काे मिल रही है।

ऐसे में डेवलपर्स सस्ती बिजली कैसे लोगों को उपलब्ध करवा रहे हैं, इसका भी उन्हें कोई पता नहीं हैं। एसोसिएशन के प्रधान आरएल भसीन ने पीएसपीसीएल के कुछ अफसरों और डेवलपर्स पर मिलीभगत का अाराेप लगाया है। काॅलाेनाइजर सन्नी एनक्लेव बलजिंदर सिंह काला ने कहा कि यहां रह रहे लाेगाें काे बिजली ताे मुहैया कराई जा रही है। रही बात सभी कनेक्शन की ताे वे भी जल्द ही मिल जाएंगे, कनेक्शन काे लेकर फाइल दफ्तर में लगा रखी है।

काॅलाेनाइजर की गलती के कारण नहीं जारी हाे रहे बिजली कनेक्शन

पीएसपीसीएल के चीफ इंजीनियर सैनी ने बताया कि काॅलाेनाइजर के एन्क्लेव के डेवलेप न करने के कारण वहां रहते लाेगाें काे बिजली कनेक्शन नहीं मिल पा रहा है। काॅलाेनाइजर ने इलाकाें में इलेक्ट्रिसिटी का सारा काम करने देना है, पीएसपीसीएल काे ताे केवल कनेक्शन जारी करने हैं।

देखकर कह सकते हैं

सनी एन्क्लेव में लाेग मीटर लगाना चाहते है, क्याें नहीं लगा पा रहे हैं अाैर किन कारणाें से फाइलें अटकी हैं, यह मामला देखने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।

ए. वेणु प्रसाद, सीएमडी, पटियाला।

पुडा की कॉलोनी में करीब 2200 छोटे बड़े प्लाट

पुडा अप्रूव्ड इस कॉलोनी में करीब 2200 छोटे बड़े प्लाट हैं। यहां कॉलोनाइजर ने 50 केवीए का कनेक्शन भी टेंपरेरी लगाया है, यहां 100 घरों की लोड की बात करें तो मौजूदा लोड से 10 गुना ज्यादा है। इस कारण यहां के लोग अपने पूरे उपकरण चलाने में असमर्थ हैं।
आर एल भसीन, प्रधान, एसोसिएशन।

डेवलपर को पावरकॉम के पास जमा करानी है एक करोड़ फीस

प्रधान भसीन के मुताबिक पावरकॉम इस वजह से यहां लोगों को कनेक्शन नहीं दे पा रहा क्योंकि कॉलोनाइजर ने फीस जमा नहीं कराई है। यहां 4000 केवीए का ग्रिड लगना है, इसे लगाने के लिए पावरकॉम को डेवलपर को करीब एक करोड रुपए की राशि जमा करानी है, जो लंबे समय से नहीं कराई गई। नियम अनुसार कोई भी व्यक्ति किसी दूसरे घर को बिजली नहीं दे सकता, ऐसा करने पर तब नेट कनेक्शन देने वाले कंज्यूमर के खिलाफ पावरकॉम कड़ी कार्रवाई कर सकता है।

खबरें और भी हैं...