बेनतीजा:नर्सों और सेहत मंत्री की मीटिंग रही बेनतीजा, इमरजेंसी सेवाएं प्रभावित करने की दी चेतावनी

पटियालाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • राजिंदर में जो नर्स प्रोवीजन पीरियड में हैं वह भी काम छोड़ेंगी और इमरजेंसी सेवाएं प्रभावित करेंगी

पंजाब एंड यूटी नर्सिंग ज्वाइंट एक्शन कमेटी की अगुवाई में माता कौशल्या और राजिंदरा अस्पताल की रेगुलर नर्सों ने ग्रेड को लेकर एमकेएच में प्रदर्शन किया। सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। नर्सों की हेल्थ मिनिस्टर ओपी सोनी के साथ मीटिंग हुई। यूनियन की मनप्रीत कौर ने बताया कि मंत्री ने दो-तीन दिन का समय मांगा है। कहा कि फाइल फाइनांस विभाग के पास है। उन्होंने बताया कि मीटिंग में कोई हल नहीं निकला है और हड़ताल जारी रहेगी। राजिंदर में जो नर्स प्रोवीजन पीरियड में हैं वह भी काम छोड़ेंगी और इमरजेंसी सेवाएं प्रभावित करेंगी।

यह हैं प्रमुख मांगें

नर्सिंग स्टाफ का पे ग्रेड घटाकर पहले 3,200 कर दिया है। इसे पहले की तरह 4,600 किया जाए, स्टाफ नर्स का पद बदलकर नर्सिंग अफसर किया जाए। पंजाब छोड़कर पूरे देश में लागू हो चुका है। 6वें पे-कमीशन में स्टाफ नर्स को ग्रेड सी में डाल दिया गया, इसे वापस ग्रेड बी में लाया जाए। नर्सिंग स्टाफ को 7200 रुपए नर्सिंग केयर अलाउंस दिया जाए। केंद्र की तरफ से पहले ही इसका रेट तय है। केंद्र के पे ग्रेड के अनुसार 2016 रुपए ट्रैवल अलाउंस और 1800 रुपए प्रतिमाह ड्रेस अलाउंस दिया जाए।

खबरें और भी हैं...