पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रोड जाम कर की नारेबाजी:पटियाला में धरने से पहले टेट पास टीचर्स को पुलिस ने घेरा, लाठीचार्ज

पटियालाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रदर्शनकारियों को 3 जगह संभालना मुश्किल, इसलिए बनाई स्ट्रेटजी

लंबे समय से रोजगार की मांग को लेकर संघर्ष कर रहे बेरोजगार ईटीटी टेट पास अध्यापकों ने रविवार को बारादरी से सीएम आवास तक रोष मार्च निकालने की घोषणा की थी और धरना देना था। दोपहर 1:30 बजे तय किया गया था, लेकिन पुलिस ने दोपहर 1 बजे बारादरी में इकट्ठे हो रहे अध्यापकों पर लाठीचार्ज कर हिरासत में ले लिया। फिर उन्हें देर शाम छोड़ दिया। पटियाला पहुंच रहे अध्यापकों को जब लाठीचार्ज और साथी अध्यापकों को हिरासत में लेने की सूचना मिली तो पटियाला-संगरूर रोड पर फाजिल्का से आ रहे 2 अध्यापक विरोध में भाखड़ा नहर में कूद गए। गोताखोरों ने दोनों को निकाल लिया।

गुस्साए अध्यापकों ने पटियाला-संगरूर रोड के बीचोंबीच धरना देकर पंजाब सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। पुलिस ने तय किया था कि अध्यापकों को बारादरी से ही बाहर नहीं निकलने दिया जाएगा। कारण, सीएम आवास के ठीक आगे चौक पर पहले ही किसान धरना लगा बैठे थे, सांझा अध्यापक मोर्चा ने भी घेराव का एलान किया था। तीन प्लेटफार्म पर आंदोलनकारियों को संभालना पुलिस के लिए मुश्किल हो जाता। इसलिए मार्च शुरू होने से पहले ही उन्हें पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

धक्केशाही की तो नहर में कूद जाएंगे

बेरोजगार ईटीटी टेट पास अध्यापक यूनियन के प्रधान दीपक कंबोज ने पुलिस हिरासत में वीडियो जारी कर बताया कि प्रदर्शन से पहले शांतमयी एकत्र हो रहे अध्यापकों पर पुलिस ने लाठीचार्ज शुरू कर दिया। धरना लोकतांत्रिक अधिकार है, लेकिन पटियाला पुलिस ने यह अधिकार छीनने की कोशिश की। विरोध में पटियाला-संगरूर रोड पर प्रदर्शन शुरू किया। इधर, संगरूर रोड पर प्रदर्शन को लीड कर रहे यूनियन के उपप्रधान संदीप सामा ने कहा प्रशासन और पटियाला पुलिस ने धक्केशाही की कोशिश की तो भाखड़ा नहर के किनारे बैठे सभी अध्यापक नहर में कूद जाएंगे।

वहीं, यूनियन के नुमाइंदों ने देर शाम अधिकारियों के साथ मीटिंग की। प्रशासन ने यूनियन को 19 अप्रैल को सीएम के सलाहकार एमपी सिंह, शिक्षा मंत्री और सेक्रेटरी एजुकेशन के साथ मीटिंग तय करवाई है। मीटिंग के बाद यूनियन ने धरना शाम 6:45 बजे खत्म कर दिया।

7 माह धरना दे 2364 पोस्टें निकलवाईं, अब बोले- जगह ही नहीं

अध्यापकों ने बताया पहले 7 माह से संगरूर में पक्का धरना देकर 2364 पोस्टें निकलवाईं। विज्ञापन जारी हुआ उसमें अलग-अलग उम्मीदवारों को विशेष सुविधाएं दी। बीएड उम्मीदवारों को ईटीटी के बराबर रखा है, जबकि अब तक सिर्फ पहल के आधार पर ईटीटी उम्मीदवारों को ही यह पद मिलना चाहिए था। फिर शिक्षा प्रोवाइडर को टेट से छूट देकर उनको दूसरे पेपर के लिए योग्य कर दिया गया और उन्हें दूसरे पेपर में 10 नंबर एक्स्ट्रा दिए गए। इन अध्यापकों का कहना है कि पहले ही पंजाब सरकार ने बेहद कम गिनती में पोस्टें निकालीं और अब उन्हें भी दूसरे कैटिगरी के अध्यापकों को देखकर उनका हक छीना जा रहा है जिसे वह किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेंगे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय चुनौतीपूर्ण है। परंतु फिर भी आप अपनी योग्यता और मेहनत द्वारा हर परिस्थिति का सामना करने में सक्षम रहेंगे। लोग आपके कार्यों की सराहना करेंगे। भविष्य संबंधी योजनाओं को लेकर भी परिवार के साथ...

    और पढ़ें