पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ग्रंथों की बेअदबी का मामला:वकीलों का विराेध, फांसी की मांग को लेकर नारेबाजी, कहा- केस की नहीं करेंगे पैरवी

फतेहगढ़ साहिब8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • तरखानमाजरा व जल्ला में बेअदबी करने वाले आरोपी 3 दिन के पुलिस रिमांड पर

गांव तरखानमाजरा व गांव जल्ला में बेअदबी करने वाले आरोपी सहजवीर सिंह निवासी गांव बीरडवाला नाभा को मंगलवार बाद दोपहर कड़े सुरक्षा प्रबंधों के बीच अदालत में पेश किया। अदालत ने उसे तीन दिन के पुलिस रिमांड में भेज दिया है। अनहोनी को लेकर पुलिस की ओर से कड़े सुरक्षा प्रबंध किए गए थे। सुरक्षा को लेकर पुलिस आरोपी को पिछले गेट से लेकर अदालत में पहुंची। पेशी के बाद उसी गेट से वापस ले गई।

यहां एसपी-डी जगजीत सिंह जल्ला सहित दूसरे सीनियर पुलिस अधिकारी मौजूद रहे। सोमवार को सुबह आरोपी सहजवीर सिंह ने पहले गांव जल्ला के गुरुद्वारा साहिब में तथा बाद में सुबह लगभग 11 बजे गांव तरखान माजरा के गुरुद्वारा साहिब में पावन स्वरूपों के साथ बेअदबी करते हुए उन्हें खंडित किया था। एसजीपीसी प्रधान भाई गोबिंद सिंह लोंगोवाल गुरूद्वारा साहिबा पहुंचे, उन्होंने उन जत्थेबंदियाें का धन्यवाद किया जिन्हाेंने प्रशाशन और दबाव डाल मामला दर्ज करवाया है।

वकीलों की मांग, पुलिस केस की सच्चाई लाए सामने

पुलिस ने मंगलवार बाद दोपहर काे जैसे ही बेअदबी के आरोपी सहजवीर सिंह को अदालत में पेश किया गया तभी जिला बार कौंसिल ने अदालत परिसर में ही आरोपी को फांसी की सजा दिए जाने को लेकर नारेबाजी शुरू कर दी थी। आरोपी को तीन दिनों के लिए पुलिस रिमांड पर भेजे जाने पर एडवोकेट अमरदीप सिंह धारणी, एडवोकेट गगनदीप सिंह व दूसरे वकीलों का कहना था कि तीन दिन का पुलिस रिमांड कम है।

कहा कि जिस तरह से उक्त आरोपी ने धार्मिक ग्रंथो की बेअदबी की है उसके पीछे एक गहरी साजिश है तथा तीन दिनों में पुलिस पूरी सच्चाई को सामने नही ला सकती कि सहजवीर सिंह के पीछे किन लोगों का या किस एजेंसी का हाथ है। प्रदर्शन के दौरान कहा कि जिला बार एसोसियेशन का कोई भी वकील बेअदबी के केस की पैरवी नहीं करेगा।

खबरें और भी हैं...