एजुकेशन / पंजाब हायर एजुकेशन विभाग ने राजीव गांधी नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी से 2006 से फाइनेंशियल डाटा मांगा

X

  • हायर एजुकेशन मंत्री बोले- अभी डाटा मांगा है अधिकारी जल्द ही जांच करेंगे

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 07:46 AM IST

पटियाला. पटियाला में स्थित राजीव गांधी नेशनल यूनिवर्सिटी लॉ पर अब हायर एजुकेशन विभाग अब ऑडिट करने जा रहा है। पंजाब हायर एजुकेशन विभाग ने नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी अथॉरिटी से 2006 से लेकर अब तक का फाइनेंशियल डाटा मांगा है। जिसमें उनको यह भी बताना होगा कि कितना खर्च हुआ और कहां कहां हुआ है। राजीव गांधी नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी को हायर एजुकेशन विभाग की तरफ से भेजे पत्र में 27 मई तक पूरा डाटा मांगा है।

हायर एजुकेशन विभाग की तरफ से पत्र में बताया कि कि 5 करोड़ की सालाना मेंटिनेंस की ग्रांट यूनिवर्सिटी को अप्रूव है जबकि 3013-14 में 15 करोड़ अप्रूव हुई थी। लेकिन यूनिवर्सिटी ने इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी कि कैसे खर्च किया है। वहीं कैपिटल ग्रांट जो हाईकोर्ट से फिक्स है उस ग्रांट को लेकर क्या एक्टिवटी की है। साथ ही कहा कि यूनिवर्सिटी ने अब तक इनकम और खर्च की कोई जानकारी नहीं दी। हायर एजुकेशन मंत्री तृप्त राजिंदर बाजवा ने बताया कि सारा डाटा मांगा है कि कितना खर्चा है और ग्रांट कहां कहां खर्च हुई है। इसका ऑडिट होगा। इस पर हायर अधिकारियों को लगाया हुआ है और वह इस मामले की जांच कर रहे है।

हायर एजुकेशन विभाग ने यह भी मांगा डाटा 

पंजाब हायर एजुकेशन विभाग ने प्रत्येक साल की ऑडिट रिपोर्ट भी मांगी जौ कैग ने की है। सालाना बजट को लेकर भी जानकारी मांगी है। साथ ही यूनिवर्सिटी की बैंक एकाउंट की भी जानकारी मांगी है। यूनिवर्सिटी की इलेक्ट्रीसिटी, वाटर समेत सारे खर्चे की जानकारी भी मांगी है। जो भी कोर्स चल रहे उसकी रसीद और मुलाजिमों की सेलरी को लेकर भी जानकारी मांगी है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना