राजिंदरा प्रबंधन की पहल:राजिंदरा में लगेगा 20 मीट्रिक टन ऑक्सीजन जेनरेटर वाला प्लांट, 24 घंटे में 50 बड़े सिलेंडर भरे जा सकेंगे

पटियाला6 महीने पहलेलेखक: राज पारचा
  • कॉपी लिंक
  • ऑक्सीजन की कमी से न थमे सांसों की डोर

कोरोना के चलते ऑक्सीजन को लेकर चारों तरफ हाहाकार मचा हुआ है। राजिंदरा में 20 मीट्रिक टन ऑक्सीजन जनरेटर प्लांट लगाने की कवायद शुरू हाे गई है। पुणे की स्पार्क्स इंडस्ट्री के प्रोजेक्ट इंजीनियर सर्वेश शुक्ला की टीम ने बुधवार काे माैके का मुआयना किया और प्राेजेक्ट काे हरी झंडी दी। अगर सबकुछ ठीक रहा ताे 15 दिन में प्लांट से अाॅक्सीजन तैयार हाेना शुरू हाे जाएगी। इसकी पुष्टि एमएस डाॅ. एचएस रेखी ने की है।

प्लांट से पाइप लाइन की मदद से मरीजों के बेड तक पहुंचाई जाएगी ऑक्सीजन

एमएस डाॅ. रेखी ने बताया कि ऑक्सीजन की कमी को दूर करने के लिए कोविड अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट पहले से काम कर रहा है। दूसरा ऑक्सीजन जनरेटर प्लांट शुरू करने के लिए एयर कंप्रेशर मशीन की जरूरत होगी। जाे केंद्र सरकार की ओर से भेजी जानी है।

ऐसे बनती है ऑक्सीजन

प्लांट में एक मशीन को लगाया जाता है और उसके भीतर एक और मशीन को लगाया जाता है। यह मशीन वातावरण से हवा को सोखकर उसे फिल्टर करती है। साफ हवा को जियोलाइट केमिकल से ऑक्सीजन और नाइट्रोजन से अलग करते हैं। नाइट्रोजन को वातावरण में छोड़ दिया जाता है। 24 घंटे में 50 जंबो सिलेंडर भरे जा सकते हैं।

खबरें और भी हैं...