पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टेंशन तो है ही:कोरोना वायरस का असर फेफड़ों पर ही नहीं शरीर के दूसरे हिस्सों पर भी पड़ रहा, हार्ट और ब्रेन अटैक हो रहा

पटियाला19 दिन पहलेलेखक: शशांक सिंह
  • कॉपी लिंक
हवा से बनेगी ऑक्सीजन, 1 मीट्रिक टन उत्पादन वाला प्लांट बेंगलुरू से राजिंदरा पहुंचा - Dainik Bhaskar
हवा से बनेगी ऑक्सीजन, 1 मीट्रिक टन उत्पादन वाला प्लांट बेंगलुरू से राजिंदरा पहुंचा

जिले में कोविड मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। वहीं कोविड के चलते अब अन्य बीमारियां भी मरीजों में देखने में आ रही है। कोरोना फेफड़ों को तो संक्रमित कर रहा है इसके अलावा शरीर के अन्य अंगों को नुकसान पहुंचा रहा है। डॉक्टरों के मुताबिक कोविड के मरीजों में इस समय अधरंग, हार्ट अटैक और ब्रेन अटैक भी हो रहा है, क्योंकि कोविड के चलते ब्लड क्लॉटिंग देखने को मिल रही है।

ऐसे कई मामले सामने आ रहे है कि कोरोना मरीज को हार्ट अटैक हो रहा और ब्रेन अटैक भी हो रहा है। कार्डियाेलॉजिस्ट डॉ. सुधीर वर्मा के मुताबिक कोरोना फेफड़ों को तो प्रभावित करता है लेकिन इसके अलावा अन्य अंगों में क्लॉट बना सकती है, जिसमें हार्ट और ब्रेन का महत्वपूर्ण रोल है।

जिसके चलते हार्ट अटैक, ब्रेन अटैक और अधरंग के भी केस सामने आ रहे हैं। बताया जा रहा है कि कुछ ऐसे केस भी देखे गए हैं, जिनमें अधरंग के सिमटम मिले हैं।

राजिंदरा अस्पताल में चार अॉक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं। इन चारों ऑक्सीजन प्लांट का काम शुरू हो चुका है। पहला प्लांट डीआरडीओ की तरफ से एमसीएच बिल्डिंग में ऑक्सीजन प्लांट लगाया जा रहा है, जो बेंगलुरु से एयरलिफ्ट होकर दिल्ली पहुंचा और दिल्ली से सड़क मार्ग से दोपहर को राजिंदरा पहुंच गया।

एमएस डॉ. एचएस रेखी ने बताया कि रविवार को इंजीनियर की टीम शाम तक इंस्टॉल करेगी और यह जल्द ही शुरू हो जाएगा। यह हवा से ऑक्सीजन बनाएगा। सुपर स्पेशलिटी बिल्डिंग में इटली से एयर लिफ्ट द्वारा 500 से 600 मीट्रिक टन की क्षमता वाला ऑक्सीजन प्लांट अगले सप्ताह आने की उम्मीद है। इमरजेंसी के पास दो ऑक्सीजन प्लांट 2 हजार मीट्रिक टन का काम शुरू हो चुका है, जो जल्द पूरा होने की उम्मीद है।

एकांतवास का बदला नियम,10 दिन का होगा

पंजाब सरकार सेहत विभाग के दिशा निर्देश अनुसार अब कोविड पॉजिटिव मरीजों के लिए घरेलू एकांतवास का समय 17 से घटाकर 10 दिन का कर दिया गया है, अब कोई भी घर में एकांतवास में रह रहा व्यक्ति 10 दिनों बाद अपने कामकाज पर जा सकता है।

बशर्ते कि उसे पिछले तीन दिन के दौरान बुखार या कोविड लक्षण होने की शिकायत न हो। 10 दिनों बाद ऐसा व्यक्ति आगे कोविड नहीं फैला सकता। अलग-अलग सरकारी/प्राईवेट विभागों के मुलाजिम कोविड पॉजिटिव आने पर 10 दिन बाद 11वें दिन ड्यूटी ज्वाइन करने के योग्य होंगे, बशर्ते उनको तीन दिनों में किसी किस्म के कोविड लक्षण या बुखार की शिकायत न हो। यदि मरीज को काेई शिकायत होती है तो वह व्यक्ति संबंधित मेडिकल अफसर से संपर्क करे। वह हालत देखकर आइसोलेशन काे बढ़ा सकता है।

ब्लैक फंगस के दो और केस जिले में मिले

पटियाला जिले ब्लैक फंगस के 2 नए मामले आने से जिले में ब्लैक फंगस के कुल 32 मामले हो गए है। सिविल सर्जन डॉ. सतिंदर सिंह ने बताया कि एक मामले राजिंदरा अस्पातल में और एक प्राइवेट हॉस्पिटल में आया है। वहीं इन 32 मामलों में से राजिंदरा अस्पातल में अब तक ब्लैक फंगस के 19 मामले आए हैं। इन 19 मरीजों में सभी 18 कोविड और शुगर का मरीज था, एक मरीज नॉन कोविड था। 5 केस पीजीआई रेफर किए गए हैं और 7 की मौत हो चुकी है।

खबरें और भी हैं...