पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

करण की माैत के मामले में परिवार का विरोध:पाेस्टमार्टम के बाद नहीं ली लाश, आरोपी पकड़े

पटियाला17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अस्पताल में जानकारी देते पिता व रिश्तेदार। - Dainik Bhaskar
अस्पताल में जानकारी देते पिता व रिश्तेदार।

थाना पसियाणा में पड़ते गांव लंगडाेई का 18 साल का करनवीर उर्फ करण सोमवार को जख्मी हाे गया था, जिस कारण उसकी माैत हाे गई थी। पिता ने बेटे की माैत पर शक जताया था, इसके चलते पसियाणा पुलिस ने दाेस्त अमनदीप सिंह व हरजाेत सिंह के खिलाफ गैरइरादन हत्या का केस दर्ज किया था। बुधवार सुबह 11 बजे पाेस्टमार्टम के बाद परिवार के लाेग दाेस्ताें की गिरफ्तारी की मांग पर अड़ गए।

उन्हाेंने लाश लेने से इंकार कर दिया। दाेपहर ढाई बजे पुलिस ने दाेनाें आराेपी दाेस्ताें काे गिरफ्तार किया। उसके बाद परिवार ने संस्कार किया। बता दें मृतक के चहरे, सिर, छाती व पैर पर चाेट के निशान पाए गए हैं। पसियाणा इंचार्ज सुखपाल सिंह ने बताया कि पिता के बयान के मुताबिक केस दर्ज करने के बाद दाेनाें आराेपियाें काे हिरासत में लिया है। उन्हें अदालत में पेशकर रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी।

आराेपियाें ने नहीं दी थी परिवार काे सूचना
पिता जसपाल ने बताया कि उसका बेटा करण आईटीआई कर रहा था। आराेपी बेटे काे साेमवार काे घर से बुलाकर लेकर गए थे। बेटे के अस्पताल में हाेने की सूचना किसी दूसरे से मिली थी। बताया कि घटना स्थल से बेटे की बुलेट 1 किमी दूर पंप से मिली थी। दाेनाें आराेपी माैके से फरार हाे गए थे, उन्हाेंने परिवार काे काेई जानकारी नहीं दी। आराेपियाें में सरपंच का बेटा शामिल है। पुलिस ने दाेपहर काे प्राइवेट अस्पताल से दाेनाें अाराेपियाें काे गिरफ्तार किया था।

खबरें और भी हैं...