• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Patiala
  • The Marks Which Are Better In The Previous Result Or Improvement Examination Will Be Considered There, In Such A Situation, Students Were Facing Difficulty In Taking Admission.

ऑफलाइन परीक्षा का आयोजन:प्रीवियस रिजल्ट या इंप्रूवमेंट परीक्षा में जो अंक बेहतर होंगे वहीं माने जाएंगे, ऐसे में छात्रों को दाखिले लेने में परेशानी हो रही थी

पटियाला4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • ऐसे में छात्रों को दाखिले लेने में परेशानी हो रही थी

सीबीएसई की ओर से 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षा कोरोना की वजह से नहीं हुई थी, ऐसे में बोर्ड की ओर से जारी गाइडलाइन पर स्कूल की ओर से अंक दिए गए थे। इससे बड़ी संख्या में छात्र रिजल्ट से खुश नहीं थे। छात्रों के लिए बोर्ड की ओर से इम्प्रूवमेंट ऑफलाइन परीक्षा का आयोजन किया गया है। इस इंप्रूवमेंट परीक्षा के बाद ही छात्रों के जो अंक आए थे उन्हें ही फाइनल रिजल्ट माना जा रहा था। इस एग्जाम में बड़ी संख्या में छात्रों के अंक स्कूल से मिले रिजल्ट से भी कम हो गए थे।

ऐसे में छात्रों को दाखिले लेने में परेशानी हो रही थी। अब सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के बाद जिले के सैकड़ों स्टूडेंट्स को राहत मिली है। सीबीएसई स्कूलों से जुड़े अध्यापक बताते हैं कि शुरुआत में ही सीबीएसई ने इम्प्रूवमेंट वाले रिजल्ट को अंतिम रिजल्ट मानने का निर्देश दिया था, इसके बाद कोई नई गाइडलाइन जारी नहीं की गई थी। ऐसे में कई स्कूल इसी आधार पर छात्रों को प्रीवियस रिजल्ट उपलब्ध नहीं करवा रहे थे। अब दोनों में से जो रिजल्ट अच्छा होगा उसी को माना जाएगा।

खबरें और भी हैं...