• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Patiala
  • The Teachers Of The District Blew Copies Of The Promises Of The Government, Said The Government Cheated By Issuing False Advertisements To Confirm 36 Thousand Employees

कापियां फूंकी:जिले के अध्यापकों ने सरकार के वादों की कापियां फूंकी, कहा- 36 हजार मुलाजिम पक्के करने के झूठे विज्ञापन जारी करके सरकार ने किया धोखा

पटियाला4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मानदेय वर्कर पर भी कम से कम तनख्वाह कानून लागू नहीं किया गया।

पंजाब यूटी मुलाजिम और पेंशनर साझा फ्रंट के आह्वान पर डेमोक्रेटिक टीचर्स फ्रंट (डीटीएफ) की अपील पर जिले के अलग-अलग स्कूलों में अध्यापकों ने पंजाब सरकार के वादों की कॉपी जलाकर लोहड़ी का त्योहार मनाया। डीटीएफ के राज्य प्रधान विक्रम देव सिंह, जिला प्रधान अतिंदरपाल सिंह, सेक्रेटरी हरविंदर सिंह रखड़ा और वित्त सेक्रेटरी भूपेंद्र सिंह ने कहा कि पंजाब की कांग्रेस सरकार ने कच्चे मुलाजिमों को बिना शर्त विभाग में पक्का करने की जगह 36 हजार मुलाजिम पक्के करने के झूठे विज्ञापन लगाकर और खाली पदों की भर्ती प्रक्रिया पूरी ना करके लोगों के साथ बड़ा धोखा किया है।

इस तरह पिछले तनख्वाह कमीशन के दौरान मिले सभी फायदे को बरकरार रखते 6वें पंजाब पे कमीशन के तहत हर मुलाजिम की पे फिक्सेशन 2.72 गुणांक अनुसार लागू नहीं की गई। बल्कि देहाती इलाका भत्ता, बॉर्डर इलाका भत्ता, हैंडीकैप भत्ता समेत 37 किस्मों के सभी भत्ते और एसीपी पर रोक लगा दी गई है। प्रोबेशन पीरियड एक्ट 2015 रद्द नहीं किया गया और 31. 12. 2015 के बाद भर्ती मुलाजिमों के उच्चतम गुणांक के मुताबिक प्रोबेशन पीरियड के सभी एरियर दबा लिए गए हैं। 1 जनवरी 2004 के बाद भर्ती मुलाजिमों के लिए पुरानी पेंशन प्रणाली बहाल नहीं की गई और ना ही 17 जुलाई 2020 के बाद मुलाजिमों पर पंजाब का तनख्वाह स्केल लागू किया गया है। पंजाब सरकार की पिकटस सोसाइटी के अधीन रेगुलर कंप्यूटर अध्यापकों के साथ बड़ा पक्षपात करते हुए शिक्षा विभाग में मर्ज नहीं किया गया और ना ही 6वें पंजाब पे कमीशन लागू करने संबंधी कोई प्रयास किया गया है। 180 ईटीटी टेट पास अध्यापकों को प्राथमिक भर्ती इश्तिहार के मुताबिक पुरानी सर्विस के सभी लाभ सहित पंजाब स्केल लागू नहीं किया गया। मानदेय वर्कर पर भी कम से कम तनख्वाह कानून लागू नहीं किया गया।

खबरें और भी हैं...