पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रोष मार्च:बिजली कटों पर कारोबारियों ने पहली बार लगाया जाम, डायरेक्टर डिस्ट्रीब्यूशन से मीटिंग पर माने

पटियाला22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सीएम सिटी में पॉवरकट के खिलाफ फैक्ट्री मालिकाें का रोष मार्च
  • डॉयरेक्टर डिस्ट्रीब्यूशन का भरोसा- मुख्यमंत्री तक पहुंचा देंगे मांग

पंजाब बिजली संकट से जूझ रहा है। ऐसे में पावरकॉम ने इंडस्ट्री में 3 दिन का कट लगाया था। र अब आगे कट न लगे इसको लेकर मुख्यमंत्री के शहर में पहली बार कारोबारियों ने विरोध किया। बुधवार को कारोबारियों ने बिजली संकट और लगातार लग रहे कट के चलते करीब 11.25 पर श्री कालीमाता मंदिर से काली पट्टी बांधकर रोष मार्च निकाला। 10 मिनट बाद पावरकॉम दफ्तर पहुंचकर काराेबारियाें ने नारेबाजी शुरू कर दी।

कुछ देर में पावरकॉम अधिकारी मिलने पहुंचे, तो कारोबारियों ने उनको मांगपत्र दिया और समस्या बताई। कारोबारी पारवकॉम के डॉयरेक्टर डिस्ट्रीब्यूटर्स से मिलने काे अड़ गए। अधिकारियों का कहना था कि डॉयरेक्टर डिस्ट्रीव्यूटर्स नहीं है। जबकि कारोबारियों का कहना था कि वह अंदर हैं।

इसी बीच पारवकॉम हेड ऑफिस का गेट बंद कर दिया गया। कारोबारियों ने नारेबाजी शुरू कर दी और 41.4 डिग्री तापमान में पावरकॉम के बाहर प्रदर्शन शुरू कर दिया। अधिकारियों की तरफ से कोई मीटिंग होने से नाराज कारोबारियों ने 12 बजकर 21 मिनट पर माल रोड पर जाम लगा दिया और नारेबाजी शुरू कर दी। उसके बाद पावरकॉम के डॉयरेक्टर डिस्ट्रीब्यूटर्स की तरफ से कारोबारियों को बुलाया गया और मीटिंग की। डॉयरेक्टर डिस्ट्रीब्यूटर्स ने भरोसा दिया कि वह कारोबारियों की मांग सीएम तक पहुंचा देंगे।
72 घंटे के कट में 100 से ज्यादा इंडस्ट्री बंद
पूरे पंजाब की इंडस्ट्री में लगातार कट लग रहे है, लेकिन पटियाला में सीएम सिटी से पहली बार पावरकॉम के खिलाफ कारोबारियों ने मोर्चा खोला है। पिछले 72 घंटे में जो कट लगे थे उससे करीब 100 से अधिक इंडस्ट्री बंद हुई थी। जिसका असर छोटी इंडस्ट्री में पड़ा हुआ है।

प्रधान रोहित बांसल ने बताया कि पहले कोरोना के चलते इंडस्ट्री की हालात खराब है, इस समय कारोबार का समय है और सरकार की तरफ से लगातार कट, जिससे इंडस्ट्री में लगातार असर हो रहा है। एसोसिएशन सेक्रेटरी अश्वनी कुमार ने बताया कि अगर कट बंद नहीं हुए तो इसका खामियाजा सरकार को भुगतना पड़ सकता है।

40 करोड़ का नुकसान
कारोबारियों ने पावरकॉम और सरकार को चेतावनी दी कि अगर कट बंद नहीं हुए तो वह सीएम हाउस को घेराव करेंगे। बता दें कि पटियाला जिले में छोटी बड़ी इंडस्ट्री मिलाकर कुल 14 हजार है, जिसमें 380 पटियाला में फोकल प्वाइंट ही है। जानकारी के मुताबिक इन तीन दिनों में बड़ी इंडस्ट्री बंद होने से करीब 40 करोड़ का नुकसान हुआ है। फोकल प्वांइट में बडी इंडस्ट्री की संख्या करीब 100 है।
यह कारोबारी रहे मौजूद
फोकल प्वाइंट इंडस्ट्री एसोसिएशन के प्रधान रोहित बांसल, सेक्रटरी अश्वनी कुमार, वाइस प्रधान राजीव गर्ग,पूर्व पैटर्न परमजीत सिंह, पूर्व चेयरमैन अशोक सिंगला, राहुल तायल, आदर्शपाल सोढी, एलएन छावड़ा, पूर्व चेयरमैन विनोद मित्तल, प्रदीप मल्होत्रा, संजीव गोयल, नवलजीत सिंह ने बताया कि लगातार बिजली कट से कारोबार परेशान है और प्रोडक्शन में लगातार गिरावट आ रही है।

खबरें और भी हैं...