क्रशर मालिक-माइनिंग अफसरों में टकराव:रोपड़ में SDO से धक्कामुक्की के बाद कई लोगों पर FIR; क्रशर मालिक बोले- अफसर कर रहे धक्केशाही

रोपड़ (रूपनगर)4 महीने पहले

पंजाब के रोपड़ में अवैध खनन को लेकर माइनिंग विभाग एक्शन में आ गया है। माइनिंग महकमे के सेक्रेटरी और आईएएस अफसर कृष्ण कुमार जिले में चल रहे खनन का औचक दौरा करने पहुंचे गए। इसका पता चलते ही स्थानीय एसई और एसडीओ भी छानबीन के लिए फील्ड में पहुंच गए।

आरोप है कि नियमों से परे जाकर खनन कर रहे कई क्रशर मालिकों और गाड़ी चालकों ने सरकारी अफसरों से मिसबिहेव किया और सरकारी काम में बाधा डाली। इस सिलसिले में रोपड़ के नूरपुर बेदी थाने में कई लोगों के खिलाफ गैर जमानती धाराओं में केस दर्ज कराया गया है।

दूसरी ओर क्रशर मालिकों ने भी सरकारी अफसरों की कार्रवाई के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। पुलिस केस दर्ज होने के बाद सिद्धिविनायक क्रशर के मालिक जीवन कुमार, जो एक सियासी पार्टी से भी जुड़े हैं, ने आरोप लगाया कि अफसरशाही उनके साथ धक्का कर रही है। इसे लेकर एक वीडियो भी वायरल हुआ है।

बता दें कि रोपड़ पंजाब के माइनिंग मिनिस्टर हरजोत सिंह बैंस का गृह जिला है। यहां आए दिन अवैध माइनिंग की शिकायतें मिल रही हैं।

सेक्रेटरी के दौरे के बाद कार्रवाई

रोपड़ जिले के कानपुर खूही एरिया में कुछ क्रशर मालिक नियमों के खिलाफ माइनिंग कर रहे हैं। इसी सिलसिले में माइनिंग महकमे के सेक्रेटरी कृष्ण कुमार ने असलियत जानने के लिए इलाके का गुपचुप दौरा किया और हालात देखे। सेक्रेटरी के फील्ड में पहुंचने की खबर माइिनंग विभाग के स्थानीय अधिकारियों को भी देर से लगी। इसके तुरंत बाद रोपड़ के एसई और एसडीओ अपनी टीम के साथ कार्रवाई के लिए पहुंच गए। आरोप है कि एसडीओ के साथ माइनिंग से जुड़े लोगो ने धक्का मुक्की की और जांच से रोका।

रूप नगर की इस माइनिंग साइट पर विवाद।
रूप नगर की इस माइनिंग साइट पर विवाद।

इन पर केस दर्ज

माइनिंग विभाग के एसई की ओर से दी गई शिकायत पर नूरपुर बेदी पुलिस ने केस दर्ज किया है। इसमें सिद्धिविनायक क्रशर के मालिक जीवन कुमार व उसके अन्य बिजनेस पार्टनर और काहलो स्क्रीनिंग प्लांट के लवजीत सिंह व अन्य लोगों के खिलाफ गैर जमानती धाराओं में केस दर्ज किया गया है।

क्रशर मालिकों और उनकी गाड़ियां चलाने वालों पर गैरकानूनी तरीके से माइनिंग करने, सरकारी ड्यूटी में विघ्न डालने और बहसबाजी करने को लेकर केस दर्ज किया गया है। FIR में लिखा गया है कि क्रशर मालिकों ने नियमों के खिलाफ जाते हुए काफी गहराई तक माइनिंग की। हालांकि पुलिस आरोपियो को गिरफ्तार नहीं कर सकी।

वीडियो जारी कर लगाए आरोप

इस बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी वायरल हुआ। इसमें क्रशर मालिक माइनिंग विभाग के एसडीओ पर गलत तरीके से मामला दर्ज करने का आरोप लगा रहे हैं। उनका कहना है कि माइनिंग विभाग सरासर धक्केशाही कर रहा है। सिद्धिविनायक क्रशर के मालिक जीवन कुमार ने कहा कि अफसर उनके साथ गलत कर रहे हैं क्योंकि वह एक राजनीतिक पार्टी से जुड़े हैं।

खबरें और भी हैं...