हादसा:बोलेरो की टक्कर के बाद साइनबोर्ड से टकराया फुटबॉल खिलाड़ी का सिर, मौत

रोपड़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बाइक पर मां के साथ जा रहा था गुरकीरत, सोलखियां के पास हादसा

रोपड़-चंडीगढ़ मार्ग पर सोलखियां टोल प्लाजा के नजदीक शुक्रवार को मोटरसाइकिल सवार माता-बेटे को अज्ञात बोलेरो चालक ने फेट मार दी। इससे गंभीर घायल सीनियर पंजाब फुटबॉल चैंपियन में सिल्वर मेडल प्राप्त व पंजाब फुटबॉल लीग में खेल चुके बीकॉम सेकेंड इयर के गुरकीरत सिंह (22) की पीजीआई चंडीगढ़ को ले जाते समय रास्ते में मौत हो गई जबकि उसकी माता का उपचार रोपड़ के प्राइवेट अस्पताल में चल रहा है।

थाना सिंघ भगवंतपुर पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाकर अंतिम संस्कार के लिए परिजनों के सुपुर्द कर दिया। घटना स्थल से फरार हुए बोलेरो चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर पुलिस कार्रवाई शुरू कर दी है। मृतक गुरकीरत सिंह का गांव कोटला के श्मशानघाट में अंतिम संस्कार कर दिया गया।

थाना सिंघ भगवंतपुर पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक शिकायतकर्ता मृतक गुरकीरत सिंह की मौसी के लड़के हरदीप सिंह निवासी सैनी माजरा ने पुलिस को बताया कि वह अपने मोटरसाइकिल पर और उसकी मौसी व उसका लड़का गुरकीरत सिंह अपने मोटरसाइकिल पर मुल्लां पुर, जिला मोहाली से अपने गांव कोटला को आ रहे थे।

जैसे ही वह गांव सोलखियां के नजदीक पहुंचे तो एक बोलेरो गाड़ी चालक ने उन्हें फेट मार दी। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि उसकी मौसी तो सड़क के किनारे गिर गई और गुरकीरत सिंह का सिर टोल प्लाजा कंपनी द्वारा लगाए गए साइन बोर्ड से टकराने के कारण गंभीर घायल हो गया।

उसने दोनों गंभीर घायलों को उपचार के लिए लोगों की मदद के साथ सिविल अस्पताल में पहुंचाया। जहां पर डॉक्टरों ने गुरकीरत सिंह को प्राथमिक उपचार देने के बाद हालत गंभीर होने के कारण पीजीआई चंडीगढ़ रेफर कर दिया। लेकिन गुरकीरत सिंह की चंडीगढ़ जाते समय रास्ते में मौत हो गई।

वहीं, शेर-ए-पंजाब स्पोर्ट्स क्लब श्यामपुरा के अध्यक्ष अमरजीत सिंह भुल्लर ने शोक व्यक्त करते हुए कहा कि गुरकीरत सिंह उनके क्लब का सदस्य था। उसने कोविड-19 महामारी के दौरान लोगों के घरों में राशन व दवाइयां पहुंचाने की मदद की। भुल्लर ने बताया कि उनके क्लब सदस्यों ने परिवार को 51 हजार रुपए की मदद करने के साथ भविष्य में हर संभव मदद करने का भरोसा दिया।

खबरें और भी हैं...