• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Ropar
  • In The Petrol Pump Assault Case, 4 By Name And 25 Unknown Forms, The Area Struggle Committee Staged A Protest In Protest

रोष मार्च निकाला:पेट्रोल पंप मारपीट मामले में 4 पर बायनेम व 25 अज्ञात पर पर्चा, इलाका संघर्ष कमेटी ने विरोध में दिया धरना

रोपड़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महाराजा रणजीत सिंह बाग में धरने पर बैठे इलाका संघर्ष कमेटी के सदस्य और गांव निवासी। - Dainik Bhaskar
महाराजा रणजीत सिंह बाग में धरने पर बैठे इलाका संघर्ष कमेटी के सदस्य और गांव निवासी।

इलाका संघर्ष कमेटी व इलाका निवासियों की तरफ से गत दिन गांव लोहगढ़ फिड्‌डे में पेट्रोल पंप पर मारपीट मामले में महाराजा रणजीत सिंह बाग में धरना दिया गया और मार्च करते हुए सिविल सचिवालय के गेट पर पुलिस व पंजाब सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गई।

गांव निवासियों ने पुलिस पर झूठा पर्चा दर्ज करने के आरोप लगाए हैं और कहा कि पुलिस की तरफ से रजिंदर सिंह, नरिंदर सिंह, मीत दबुर्जी, मनी दबुर्जी समेत 25 अज्ञात के खिलाफ धारा 323, 379-बी, 385, 148, 149 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने कहा कि जबकि रजिंदर सिंह मौके पर घटना स्थल पर मौजूद ही नहीं था।

इसके बाद एसपी अंकुर गुप्ता को मांगपत्र देकर पर्चा रद्द करने की मांग की गई। एसपी अंकुर गुप्ता ने कहा कि पुलिस इन्क्वायरी कर रही है। जो भी आरोपी पाया गया उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। गांव निवासी कुलदीप सिंह जेई घनोली, बनवारी लाल, विक्की धीमान, कुलवंत कौर बाठ, नरिंदर कौर काहलों, जगदीप कौर ढक्की ने बताया कि इलाका निवासियों की तरफ से सीमेंट फैक्ट्री प्लांट व ट्रांसपोर्ट कंपनियों द्वारा की जा रही धक्केशाही के खिलाफ लंबे समय से शांतिपूर्वक धरना प्रदर्शन किया जा रहा है।

फैक्ट्री द्वारा ओवरलोड और ओपन बॉडी ट्रकों में थर्मल के डैको से राख उठाई जाती है, जिससे इलाके में प्रदूषण फैलता है। प्रदूषण को रोकने के लिए इलाके में 15 मई को रोष मार्च भी निकाला गया था। उन्होंने कहा कि इलाका निवासी प्रशासन व पुलिस को बहुत बार शिकायतें दे चुके हैं लेकिन पुलिस व प्रशासन द्वारा इनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई।

आरोप- ओपन बॉडी ट्रकों में राख ले जाने का कर रहे विरोध, ये संघर्ष दबाने की कोशिश

पत्नी बोली- पति रजिंदर सिंह चंडीगढ़ से ही 9 बजे लौटे थे, उन पर डाला केस झूठा
यहां पहुंची मनजीत कौर ने कहा कि मौजूदा मुकदमा इलाके के लोगों द्वारा किए जा रहे संघर्ष को दबाने के लिए झूठा दर्ज किया गया। उनके पति रजिंदर सिंह व कुछ अन्य व्यक्ति घटना के दौरान बाहर गए हुए थे। रजिंदर सिंह रात 9 बजे चंडीगढ़ से वापस पहुंचे जोकि सुबह 10 बजे से गए हुए थे।

रजिंदर सिंह का मोबाइल उनके पास था और मोबाइल की लोकेशन ट्रेस करवाई जाए और पति पर दर्ज किया झूठा मामला रद्द किया जाए। इस मौके पर टेंपो कैंटर यूनियन के कुलदीप सिंह, दविंदर सिंह बैनीपाल, सवरन सिंह बोबी सरपंच बहादरपुर, सरपंच नूहों अमरजीत कौर, सरपंच रतनपुरा जसवीर कौर, पूर्व सरपंच तजिंदर सिंह, सरपंच फिड्‌डयां रणजीत कौर, गुरनाम सिंह नंबरदार उपस्थित थे।

जांच के बाद होगी कार्रवाई : एसपी
एसपी अंकुर गुप्ता ने कहा कि गत दिन गांव लोहगढ़ फिड्‌डे के पेट्रोल पंप हुए झगड़े का मामला सदर पुलिस की तरफ से दर्ज किया गया था। गांव निवासियों की तरफ से शिकायत मिली है कि कुछ गांव निवासियों पर झूठा मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने कहा कि पुलिस की तरफ से इन्क्वायरी की जा रही है। जांच करके जो भी आरोपी पाया गया उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे।

पुलिस ने रजिंदर को अदालत में पेश किया, हिरासत में भेजा
सदर पुलिस ने अतुल कुमार के बयानों पर रजिंदर सिंह, नरिंदर सिंह, मनी दबुर्जी, मीत दबुर्जी व 25 के करीब अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर कुछ लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस की तरफ रजिंदर सिंह को अदालत में पेश करके 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

अतुल कुमार ने पुलिस को बताया कि गत दिन शाम करीब 5:30 बजे अपने पंप पर बैठे पैसे का हिसाब कर रहे थे कि उक्त रजिंदर सिंह अपने साथियों समेत पेट्रोल पंप पर पहुंचा और कहने लगा कि गाड़ी हमारे रेट व मर्जी से जाएगी और जब इस बात का विरोध किया तो उनके स्टाफ मेंबर पर हमला कर मारपीट शुरू कर दी।

खबरें और भी हैं...