पटवारियों के समर्थन में तहसीलदार हड़ताल पर:तहसील में काम न होने से डेढ़ से 2 करोड़ का रेवेन्यू नहीं हुआ जेनरेट

रोपड़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रोपड़ तहसील में हड़ताल के कारण बंद पड़ा कामकाज। - Dainik Bhaskar
रोपड़ तहसील में हड़ताल के कारण बंद पड़ा कामकाज।
  • इधर, देर शाम पटवार यूनियन ने हड़ताल ली वापस लेकिन सिर्फ पक्के हलके का काम करेंगे

मलेरकोटला के एक पटवारी को विजिलेंस द्वारा पकड़ने के मामले के विरोध में पटवारी कानूनगो यूनियन की हड़ताल के बाद छठे दिन जिले के तहसीलदारों व नायब तहसीलदारों ने भी पटवार यूनियन के समर्थन में तीन दिवसीय हड़ताल शुरू कर दी और अपना कामकाज बंद रखा। हड़ताल दौरान 6 तहसीलदार, 7 नायब तहसीलदार, 55 पटवारी, 26 कानूनगो ने कामकाज ठप रखा।

हड़ताल के चलते तहसीलों, सब तहसीलों में होने वाले काम जैसे रजिस्ट्रियां, इंतकाल, भार रहत सर्टिफिकेट, मैरिज सर्टिफिकेट, नक्शे, नकल, गिरदावरी, रजिस्ट्रेशन, प्रॉपटी लोन, कोर्ट के काम, असलहा लाइसेंस व विद्यार्थियों के आमदन सर्टिफिकेट, जन्म, मौत, जाति सर्टिफिकेट आदि के काम नहीं हो सके।

इसके अलावा सोमवार को जिले में करीब 100 से 150 रजिस्ट्रियां नहीं हुई और जिले में कुल डेढ़ से 2 करोड़ रुपए का रेवेन्यू जेनरेट नहीं हुआ। वहीं, पटवारी कानूनगो यूनियन की हड़ताल छटे दिन भी जारी रही। इसके चलते कुल 158 सर्कलों का पटवारियों ने काम बंद रखा हुआ है। लोग तहसीलों व पटवारखानों में अपने काम करवाने के लिए परेशान हो रहे हैं।

मालेरकोटला के पटवारी को अवैध तरीके से पकड़ा, इसका रोष

तहसील अध्यक्ष सुरिंदरपाल, सीनियर उपाध्यक्ष गुरमीत सिंह, महासचिव हरनेक सिंह ने कहा कि रेवेन्यू पटवार यूनियन जिला संगरूर, मालेरकोटला के अध्यक्ष दीदार सिंह छोकर पटवारी के खिलाफ बिना विभागीय पड़ताल से विजिलेंस विभाग की तरफ से धक्केशाही करते हुए गलत तरीके के साथ एफआईआर दर्ज की गई और अवैध तरीके से गिरफ्तार किया गया।

इसका यूनियन मुलाजिमों में रोष है। वहीं, देर शाम राजस्व मंत्री से मीटिंग के बाद पटवारियों ने हड़ताल वापस ले ली। इस संबंधी जिला रेवेन्यू पटवार एसोसिएशन के जिला प्रधान गगनदीप ने कहा कि स्टेट इकाई ने मीटिंग के बाद हड़ताल वापस लेने का फैसला किया है। इस दौरान पटवारी सिर्फ पक्के हलकों का काम करेंगे।

परेशान लोग बोले- काम से छुट्टी लेकर आए थे, यहां हड़ताल चल रही

तहसील दफ्तर रोपड़ में अपना काम करवाने पहुंचे अनूप कुमार निवासी हुसैनपुर ने बताया कि जमीन के इंतकाल संबंधी काम करवाने के लिए पहुंचे थे। शनिवार व रविवार छुट्टी थी आज सोमवार से तीन दिन के लिए तहसीलदार हड़ताल पर हैं। वह अपने काम से छुट्टी लेकर आया था लेकिन हड़ताल के चलते परेशानी हुई है।

वहीं, गांव फूल के बलवीर सिंह ने बताया कि वह जमीन की नकल संबंधी काम करवाने के लिए पहुंचे थे लेकिन पटवारखाने में भी ताला लगा हुआ है और तहसील में भी हड़ताल है। दर्शन सिंह ने बताया कि उनकी पत्नी की मौत हो गई थी और मौत का सर्टीफिकेट बनवाने के लिए दिया है अब पता नहीं चल रहा है कि बनाया गया है या नहीं।

खबरें और भी हैं...