आक्रोश:ओवरलोड वाहनों व राख के डंप को लेकर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी

नूरपुरबेदी2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गांव निवासी ओवरलोड वाहनों को रोकने के लिए रोष व्यक्त करते हुए। - Dainik Bhaskar
गांव निवासी ओवरलोड वाहनों को रोकने के लिए रोष व्यक्त करते हुए।

नूरपुरबेदी से बुंगा साहिब मुख्य मार्ग पर रोजाना ओवरलोड वाहनों के गुजरने व राख के डंप से परेशान गांव निवासियों ने प्रशासन के खिलाफ रोष जताया और नारेबाजी की। गांव निवासियों ने प्रशासन को दो दिन का अल्टीमेटम दिया है और अगर फिर भी कोई कार्रवाई नहीं की तो मुख्य मार्ग को जाम किया जाएगा। बता दें कि डीसी रोपड़ के आदेशों पर इस मार्ग पर 5 टन से अधिक क्षमता वाले भारी वाहनों के गुजरने पर संपूर्ण तौर पर पाबंदी लगाई गई है, लेकिन उक्त मार्ग से 5 टन की बजाय 70 टन के ओवरलोड टिप्पर और बड़े घोड़ा टाइप वाहन रोजाना गुजरते हैं।

गांव निवासी कुलविंदर सिंह बस्सी,जगबीर सिंह शाहपुर बेला, गुरदीप सिंह शाहपुर बेला, जगबीर सिंह, जरनैल सिंह, भजन सिंह ग्रेवाल आदि ने बताया है कि पिछले लंबे समय से इन ओवरलोड वाहनों के खिलाफ संघर्ष किया जा रहा है, लेकिन अब तक कार्रवाई नहीं हुई है। उक्त मार्ग पर सियासी मदद से फ्लाई ऐश (राख का डंप) चलने से समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

लोग बोले-विधायक को दे चुके मांगपत्र, नहीं हुई कार्रवाई
लोगों ने कहा कि पिछले दिनों हलका रोपड़ के विधायक दिनेश चड्ढा को इन ओवरलोड वाहनों को रोकने के लिए मांग पत्र भी सौंपा गया था लेकिन फिर भी कार्रवाई नहीं हुई। वहीं उन्होंने आगे बताया है कि इन ओवरलोड वाहनों के खिलाफ विधायक बनने से पहले खुद दिनेश कुमार चड्ढा भी संघर्ष कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि भारी वाहनों के चलते सड़क पर कई स्थानों पर बड़े- बड़े गड्ढे बन चुके हैं और रोजाना हादसे हो रहें हैं।

गांव निवासियों ने प्रशासन को दो दिन का समय दिया है और कहा कि अगर कार्रवाई नहीं हुई तो सड़क जाम करके रोष प्रदर्शन किया जाएगा। गांव वासियों की तरफ से थाना नूरपुरबेदी के प्रभारी बिक्रमजीत सिंह को ओवरलोड वाहनों के खिलाफ कार्रवाई करने की शिकायत दी गई है। जिसके संबंधी थाना प्रभारी ने कहा कि पुलिस की तरफ से कार्रवाई करते हुए तुरंत मुलाजिमों को इस मामले के संबंध में कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं।

खबरें और भी हैं...