• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Sangrur
  • Confusion Over The Real Face For 83 Years, Effigies Of Four Different Faces Were Found In The Home Town Sunam, Government Advertisements Have A Different Picture

पहचान के मोहताज शहीद ऊधम सिंह:असली चेहरे पर 83 साल से असमंजस, गृह नगर सुनाम में चार अलग-अलग चेहरे के पुतले लगे

संगरूर6 महीने पहलेलेखक: पुनीत गर्ग
  • कॉपी लिंक

13 मार्च 1940 को रायल सेंट्रल एशियन सोसायटी की लंदन के कॉक्सटन हाल में माइकल ओ’डायर को मारकर जालियांवाला बाग नरसंहार का बदला लने वाले शहीद ऊधम सिंह जिस शहर में पैदा हुए (सुनाम ऊधम सिंह वाला) वहीं वो अपनी पहचान के मोहताज हैं। शहर में शहीद की याद में चार प्रतिमाओं को स्थापित किया गया है। चारों के चेहरे अलग हैं। यही नहीं शहीद के जद्दी घर में रखी गई तस्वीरों में भी उनका चेहरा कुछ और है।

विडंबना देखिए कि सरकार उनके जन्मदिवस और शहीदी दिवस पर जो विज्ञापन प्रकाशित करवाती है उस पर शहीद की तस्वीर कुछ और होती है। लंबे समय से शहरवासियों की मांग है कि सरकार शहीद के सही चेहरे को जनता के सामने रखे।

  • सीएम मान समेत कैबिनेट मंत्री और विधायक शहीद को आज देंगे श्रद्धांजलि, प्रमाणित चेहरे की उठेगी मांग
यह बुत बस स्टैंड के पास 1970 के दशक में लगा।
यह बुत बस स्टैंड के पास 1970 के दशक में लगा।
यह बुत बठिंडा रोड स्थित शहीद ऊधम सिंह मेमोरियल में 2021 में लगाया गया था। इसका उद्धघाटन तत्कालीन मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किया था।
यह बुत बठिंडा रोड स्थित शहीद ऊधम सिंह मेमोरियल में 2021 में लगाया गया था। इसका उद्धघाटन तत्कालीन मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किया था।
बस स्टैंड से 200 मीटर की दूरी पर 70 के दशक में लगा।
बस स्टैंड से 200 मीटर की दूरी पर 70 के दशक में लगा।
2008 में आईटीआई चौक पर अकाली सरकार के समय लगाया गया था। उस समय परमिंदर सिंह ढींडसा अकाली सरकार में पीडब्लूडी मंत्री थे।
2008 में आईटीआई चौक पर अकाली सरकार के समय लगाया गया था। उस समय परमिंदर सिंह ढींडसा अकाली सरकार में पीडब्लूडी मंत्री थे।

प्रतिनिधिमंडल आज मुख्यमंत्री भगवंत मान को सौंपेगा ज्ञापन

रविवार को ऊधम सिंह के 83वें शहीदी दिवस पर पंजाब सरकार की ओर से आयोजित राज्य स्तरीय समागम में सीएम भगवंत मान समेत कैबिनेट मंत्री और विधायक शहीद को श्रद्धांजलि देंगे। इस अवसर पर सामाजिक व सूचना अधिकार के कार्यकर्ता जतिंद्र जैन की अगुवाई में प्रतिनिधिमंडल भगवंत मान को ज्ञापन भी सौंपेगा। जतिन्द्र जैन का कहना है कि शहीद के जद्दी शहर को सुनाम ऊधम सिंह वाला की पहचान मिल गई है, परंतु अभी तक सरकार शहीद के असली चेहरे को लोगों के सामने नहीं रख सकी है।