जेलों में बंद सिखों को रिहा कराएगी SGPC:9 मेंबरी कमेटी बनाई; सुखबीर और जीके शामिल, 19 को अमृतसर में मीटिंग

तरनतारन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एसजीपीसी अध्यक्ष हरजिंदर सिंह धामी। - Dainik Bhaskar
एसजीपीसी अध्यक्ष हरजिंदर सिंह धामी।

सिखों की मिनी संसद कही जाने वाली शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) के अध्यक्ष एडवोकेट हरजिंदर सिंह धामी ने देशभर की विभिन्न जेलों में बंद सिखों की रिहाई के लिए नौ मेंबरी कमेटी का गठन किया है। विभिन्न पंथक नेताओं को इस कमेटी में शामिल किया गया है। कमेटी की पहली बैठक 19 मई को अमृतसर स्थित एसजीपीसी दफ्तर में होगी।

बता दें कि अकाल तख्त के आदेश पर ऐतिहासिक तेजा सिंह समुंदरी हॉल में 11 मई को एसजीपीसी ने पंथक बैठक बुलाई थी। बैठक में विभिन्न जेलों में बंद सिहों की रिहाई के लिए जॉइंट कमेटी बनाने का अधिकार एसजीपीसी प्रधान एडवोकेट हरजिंदर सिंह को सौंपा गया था। इसके बाद अब एसजीपीसी प्रधान ने इस कमेटी का ऐलान किया है।

9 मेंबरी कमेटी में इनके नाम

एडवोकेट धामी द्वारा बनाई गई इस 9 मेंबरी कमेटी में उनके अलावा शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल, दमदमी टकसाल के प्रमुख बाबा हरनाम सिंह खालसा, निहंग सिंहों की ओर से तरना दल हरियां वेलन के प्रमुख बाबा निहाल सिंह शामिल हैं। इसके अलावा दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष हरमीत सिंह कालका, पूर्व प्रधान मनजीत सिंह जीके, अकाली दल दिल्ली के अध्यक्ष परमजीत सिंह सरना और सिख प्रचारक बाबा बलजीत सिंह दादूवाल को भी कमेटी का मेंबर बनाया गया है।

सिख संगठनों से मांगे सुझाव

एसजीपीसी अध्यक्ष एडवोकेट हरजिंदर सिंह धामी ने बताया कि जेलों में बंद सिखों की रिहाई के लिए यह कमेटी सिख संगठनों से मिलने वाले सुझावों का सम्मान करेगी। जरूरत पढ़ने पर इस कमेटी में और मेंबर भी शामिल किए जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि कमेटी की पहली बैठक 19 मई को 12 बजे एसजीपीसी कार्यालय अमृतसर में बुलाई गई है। यह बैठक 19 मई की दोपहर में होगी।