एकेएच / जुलाई से मरीजों को बेड पर सेंट्रलाइज ऑक्सीजन, सक्शन की सुविधा

Centralized oxygen on bed, suction facility for patients from July
X
Centralized oxygen on bed, suction facility for patients from July

  • एनआरएचएम द्वारा अमृतकौर समेत दो अस्पतालों का चयन, दिल्ली की कंपनी ने ब्यावर में शुरू किया काम
  • जून के अंत तक काम पूरा करने का लक्ष्य

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

ब्यावर. राजकीय अमृतकौर अस्पताल में बेहतर सुविधाएं और उपचार की चाह में आने वाले मरीजों के लिए कोरोना महामारी के बीच एक राहत भरी खबर है। 
राजकीय अमृतकौर अस्पताल में अब जल्दी मरीजों को बेड टू बेड ऑक्सीजन और सक्शन की सुविधा मिलेगी। इस सिस्टम के लगने से जहां बार बार वार्ड में ऑक्सीजन सिलेंडर लाने ले जाने से निजात मिलेगी, वहीं मरीजों के साथ ही कर्मचारियों के लिए भी सहूलियत होगी। इस काम के लिए एनआरएचएम द्वारा दिल्ली की एक फर्म काे 86 लाख 60 हजार 838 रुपए का टेंडर जारी किया गया है। कंपनी एकेएच के साथ ही नागौर के जवाहर लाल नेहरू जिला अस्पताल में सेंट्रलाइज ऑक्सीजन सक्शन प्लांट इंस्टॉल करेगी।
कंपनी के इंजीनियर उमेश चौधरी के निर्देश में अमृतकौर अस्पताल की मुख्य बिल्डिंग में काम भी शुरू हो चुका है। 305 बेड वाले जिला अस्पताल में अभी तक कुछ वार्ड और यूनिट में सेंट्रलाइज ऑक्सीजन सक्शन प्लांट की सुविधा थी। 
अन्य वार्ड में बेड पर भर्ती मरीजों को जरूरत के हिसाब से इसकी मैनुअल सुविधाएं मुहैया कराई जाती थी। जून के अंतिम सप्ताह से पूर्व कार्य पूरा किया जाएगा। जुलाई में मरीजों को उनके बेड पर ही ऑक्सीजन और सक्शन की सुविधा उपलब्ध होने लगेगी। अभी मरीज सिलेंडर के भराेसे हैं। मरीजाें की संख्या ज्यादा हाेने पर दिक्कतें आती है।
सक्शन मशीन चलाने से मिलेगी निजात
सक्शन की जरूरत मरीज का गला कफ या लार से अवरुद्ध होने पर पड़ती है। इसके लिए पहले मरीज के मुंह में सक्शन लगाया जाता था और मशीन को एक व्यक्ति चलाता था। तब यह काम करता था। लेकिन अब बेड पर आसानी से यह सुविधा चंद मिनटों में मुहैया होगी।
अस्पताल की मुख्य बिल्डिंग के पास स्थापित होगा प्लांट
अस्पताल के सूत्रों ने बताया कि मुख्य बिल्डिंग के पीछे पूर्व पीएमओ आवास के समीप प्लांट स्थापित किया जाएगा। प्लांट में 8x8 का मेनीफोल्ड ऑटोमेटिक कंट्रोल पैनल लगेगा साथ ही 4x4 का इमरजेंसी ऑक्सीजन मेनीफोल्ड लगाया जाएगा। 1 हजार लीटर टैंक का एयर कंप्रेशर इंस्टॉल किया जाएगा। प्लांट नागाैर अस्पताल से बड़ा हाेगा क्याेंकि वहां 250 बेड का ही अस्पताल है। एकेएच में 340 मरीज भर्ती रहते हैं, एक्सट्रा बेड भी लगाने पड़ते हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना