ब्यावर में कलश यात्रा के साथ शुरू हुई भागवत कथा:शहर के लोगों ने स्वागत में की फूलों की बारिश, सैंकड़ों श्रद्धालुओं ने लिया भाग

ब्यावर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

ब्यावर शहर के अजमेरी गेट स्थित रामद्वारा में बुधवार को सात दिवसीय संगीतमय श्रीमद भागवत कथा का भव्य कलश शोभायात्रा के साथ शुभारंभ हुआ। अशोक भाटी परिवार के सानिध्य में शुरू हुई श्रीमद् भागवत कथा के पहले दिन विभिन्न धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। कथा शुभारंभ के मौके पर शहर के सात पुलिया फतहपुरिया बगीची स्थित रघुनाथ जी के मंदिर से भव्य कलश शोभायात्रा निकाली गई। इसके बाद रामस्नेही संत रामप्रसाज महाराज के सानिध्य में शुरूआत हुई।

। कथा शुभारंभ के मौके पर शहर के सात पुलिया फतहपुरिया बगीची स्थित रघुनाथ जी के मंदिर से भव्य कलश शोभायात्रा निकाली गई
। कथा शुभारंभ के मौके पर शहर के सात पुलिया फतहपुरिया बगीची स्थित रघुनाथ जी के मंदिर से भव्य कलश शोभायात्रा निकाली गई

रघुनाथ जी के मंदिर से बैंड बाजों की मधुर स्वर लहरियों के साथ आरंभ हुई शोभायात्रा रोडवेज बस स्टैण्ड, न्यायालय के सामने, एसबीआई बैक से होते हुए कथा स्थल रामद्वारा पहुंची। कलश यात्रा के दौरान सबसे आगे बैड वादक भगवान के भजनों की लहरियां बिखेरते हुए चल रहे थे। उनके पीछे कथा आयोजक परिवार के सदस्य सर पर श्रीमद् भागवत कथा पोथी सर पर धारण कर चल रहे थे। बीच में चुंदड़ी की साडिय़ों में सजी धजी महिलाएं सिर पर कलश धारण किए हुए चल रही थीं।

इस दौरान पुरुष श्रद्धालु हाथी घोड़ा पालकी जय कन्हैयालाल की सहित ठाकुर जी महाराज के जयकारे लगाते हुए चल रहे थे। साथ ही संत रामप्रसाद महाराज और रामद्वारा ट्रस्ट के अध्यक्ष संत केवलराम महाराज बग्गी में सवार होकर चल रहे थे। शोभायात्रा का मुख्य मार्ग में शहरवासियों ने पुष्प वर्षा कर भव्य स्वागत किया। शोभायात्रा के कथा स्थल पहुंचने पर कलश स्थापना की गई। जहां पर कलश की विधिवत मंत्रोच्चारण के साथ पूजा अर्चना की गई। शोभायात्रा के दौरान सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालुओं ने भाग लिया। कथा के पहले दिन कथा प्रवक्ता संत रामप्रसाद महाराज ने कथा का महात्म्मय सुनाया। इस दौरान बडी संख्या में महिला और पुरूष श्रद्धालु उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...