नई आफत / आठ दिन बाद फिर गांवों में टिड्डियों का हमला, रिजका की फसल नष्ट

Eight days later locusts attack in villages, Rijka crop destroyed
X
Eight days later locusts attack in villages, Rijka crop destroyed

  • रात में कटसुरा में डाला डेरा, सुबह मालपुरा की तरफ निकल गया दल, चार किलोमीटर लंबा था टिड्डी दल, ग्रामीणों ने ढोल, पीपे, बर्तन बजाकर टिड्डियों को भगाया, राताें रात स्प्रे का छिड़काव शुरू

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:41 AM IST

किशनगढ़. किसानों की चिंता बने टिड्डी दल ने महज आठ दिन बाद फिर से ग्रामीण क्षेत्रों में हमला किया। कई गांवों के खेतों में आने के बाद टिड्‌डी दल शुक्रवार की सुबह मालपुरा की तरफ उड़ गया। इस बार आया टिड्‌डी दल 14 मई को आए दल से भी काफी बड़ा था और चार किलोमीटर लंबा झुंड बनाकर टिडि्डयां आसमान में उड़ती हुई आगे बढ़ रही थी। हालांकि फसल नहीं होने से किसानों को भारी नुकसान होने से बच गया लेकिन कुछ किसानों के रिजका होने के कारण टिडि्डयों ने उसे नष्ट कर दिया। देर रात को ही कृषि अधिकारी और प्रशासन टिडि्डयों को भगाने के लिए स्प्रे का छिड़काव करने पहुंच गया। सांसद भागीरथ चौधरी ने भी ग्रामीण क्षेत्रों का जायजा लेकर टिड्‌डी दल को रोकने के लिए प्रभावी कदम उठाने और नुकसान को लेकर चर्चा की। 
जानकारी के अनुसार गुरुवार शाम को टिड्‌डी नागौर की दिशा से होते हुए ढाणी पुरोहितान की तरफ पहुंच गया। वहां से हवा के साथ तेजी से उड़ता हुआ उदयपुर कला, उदयपुर खुर्द, बालापुरा, देवपुरी, अरांई में चला गया। रात के समय टिड्‌डी दल ने कटसुरा में डेरा डाल लिया। इन गांवों के किसानों और ग्रामीणों ने टिड्‌डी दल को भगाने के लिए ढोल, पीपे, पटाखे, बर्तन बजाकर शोर शराब किया। इससे टिड्‌डी दल अपनी जगह बदलता गया। रात के समय टिड्‌डी दल में कटसुरा के खेतों में रुक गया। 
सांसद चौधरी ने लिया जायजा
किशनगढ शहरी क्षेत्र के हाउसिंग बोर्ड, ढाणी पुरोहितान के साथ साथ सिलोरा, उदयपुर खुर्द , उदयपुर कलां, गोदियाना, काढा, बरना आदि क्षेत्रों में टिड्‌डी दल के आने की सूचना पर सांसद चौधरी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने प्रशासनिक एवं कृषि अधिकारियों को निर्देशित कर टिड्डीयों पर नजर रख उनके ठहराव की बात कही। कृषि विभाग की टीम के साथ साथ जोधपुर से आए टिड्डी नियंत्रण दल ने अपने साथ लाए संसाधनों से छिड़काव एवं स्प्रे किया। उपखंड अधिकारी देवेन्द्र कुमार, कृषि उपनिदेशक वीके शर्मा एवं जोधपुर के टिड्डी नियंत्रण दल में आए भार्गव के साथ सांसद चौधरी ने मॉनिटरिंग की। उन्होंने ने कहा कि प्रदेश में आगामी दिनों में टिड्डी दलों पर प्रभावी नियंत्रण हेतु ठोस योजनाओं के क्रियान्वयन कराने हेतु ड्रोन एवं हेलिकॉप्टर द्वारा दवाओं का छिड़काव किया जाना आवश्यक है। इसके अतिरिक्त स्थानीय प्रभावित क्षेत्रों में उपलब्ध संसाधनों यथा ट्रेक्टर, ट्रोली पानी के टेंकर आदि को किराए पर लेकर एवं स्थानीय लोगों का सहयोग लिया जाना भी आवश्यक है। इस दौरान देवपुरी सरपंच हरिराम, दादिया सरपंच महिपाल राव, मण्डल अध्यक्ष रामवतार वैष्णव, धर्मराज जाट, शिवराज नेहरा, भागचंद सहित अन्य मौजूद थे। इसी तरह राजस्थान प्रदेश कांंग्रेस कमेटी पर्यावरण प्रकोष्ठ के सचिव बृजेश जोशी ने कृषि मंत्री को पत्र लिखकर टिडि्डयों की रोकथाम के लिए हैलीकॉप्टर और ड्रोन से कीटनाशक का छिड़काव करने की मांग की है।
अरांई । शुक्रवार को सुबह अरांई क्षेत्र में टिड्‌डी दल ने हमला कर दिया। जिससे ग्रामीणों में कौतुहल मच गया। अल सुबह टिड्डी दल आने से ग्रामीण अपने खेतों एवं बाड़ों मे रखे चारे को बचाने की जुगत में लग गए। लॉकडाउन में पहले से कई समस्याओं से जूझ रहे किसानों एवं ग्रामीणों को टिड्‌डी दल ने डरा दिया। टिड्डी दल गुरूवार का देर शाम देवपुरी एवं भारला क्षेत्र में पहुंचा था।    अरांई कृषि पर्यवेक्षक हेतराम जाट ने बताया कि  क्षेत्र में रिजका, ज्वार, बाजरा तथा कपास तथा सब्जियों की फसल का ज्यादा नुकसान की संभावना है। नुकसान का वास्तविक आंकलन टिड्डियों के उड़ जाने या खत्म होने पर ही किया जा सकेगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना