मदद / साईकिल से उड़ीसा जा रहे मजदूरों को पाटन में रोका, निजी वाहन से पहुंचाया

Workers going from Orissa by bicycle stopped in Patan, transported by private vehicle
X
Workers going from Orissa by bicycle stopped in Patan, transported by private vehicle

  • साईकिल पर सवार होकर 20-21 साल के मजदूर रिंग्स से उड़ीसा जा रहे थे

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

मदनगंज. रींगस से उड़ीसा जाने के लिए नई साईकिल खरीदकर निकले दो मजदूरों को किशनगढ़ हाइवे पर भाजपा मदनगंज मंडल ने रुकवाकर ना सिर्फ दो दिन तक रहने खाने की व्यवस्था की बल्कि दोनों से साईकिल खरीदकर उन्हें निजी वाहन के जरिये गंतव्य के लिए रवाना किया।
जानकारी के अनुसार दो अलग-अलग साईकिल पर सवार होकर 20-21 साल के मजदूर रिंग्स से उड़ीसा जा रहे थे। उन्हें कोई साधन नहीं मिला तो उन्होंने रिंग्स से साढ़े सात हजार रुपए में नई साईकिल खरीदी और उड़ीसा के लिए निकल गए। किशनगढ़ हाइवे पर भाजपा मदनगंज मंडल अध्यक्ष किशन बंग ने रुकवाकर मजदूरों से बात की। बंग ने दोनों को 1800 किलोमीटर का जोखिमभरा सफर साईकिल से ना करने के लिए समझाया। साथ ही दोनों के परिजनों से मोबाइल पर बात कर उन्हें आश्वस्त किया गया। मदनगंज मंडल ने पाटन के राजकीय विद्यालय में रुकवाकर दो दिन तक खाने पीने का इंतजाम किया।

इसके बाद घर भेजने के लिए सरकारी परिवहन व्यवस्था का प्रयास किया। लेकिन सफलता नहीं मिली। मंडल ने दोनों से साढ़े सात हजार रुपए में उनकी साइकिलें खरीद ली और निजी खर्च पर टैक्सी की व्यवस्था कर उड़ीसा के लिए रवाना किया। उपखंड अधिकारी देवेंद्र यादव ने  टैक्सी को आने जाने की अनुमति प्रदान की। दोनों के लिए भोजन और पानी की व्यवस्था कर विदा किया। इस दौरान मंडल के उमेश गोयल, गजानंद सहित अन्य मौजूद थे। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना