पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • 1 Crore 6 Lakh Families Will Be Benefited In The State; Each Family Will Get 5 Kg Extra Wheat; Free Distribution Will Be Given To The Selected Families In The National Food Security Scheme

राजस्थान में साढ़े 4 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज:गरीबों काे 5 किलो गेहूं एक्स्ट्रा मिलेगा; राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना में चयनित परिवार PM गरीब कल्याण योजना के तहत होंगे लाभान्वित

अजमेर2 महीने पहलेलेखक: सुनिल कुमार जैन
  • कॉपी लिंक

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना में चयनित प्रदेश के 4 करोड़, 44 लाख, 44 हजार 587 लोगों को 5 किलो गेहूं अतिरिक्त व फ्री मिलेगा। कोरोना काल में सरकार ने यह राहत दी है। राशन की दुकानों पर इसका वितरण एक जून से शुरू हो जाएगा। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अन्तर्गत प्रदेश के 1 करोड़ 6 लाख 19 हजार 126 परिवार जून व जुलाई माह में लाभान्वित होंगे।

ऐसे मिलेगा गेहूं

राशन की दुकानों पर हर माह मिलने वाला 5 किलो प्रति व्यक्ति गेहूं निर्धारित दर यानि APL के लिए दो रुपए किलो व BPL के लिए एक रुपए किलो के हिसाब से दिया जाएगा। लेकिन जून व जुलाई माह में इसके अतिरिक्त प्रति व्यक्ति मिलने वाला पांच किलो गेहूं फ्री में दिया जाएगा। यह लाभ उन परिवारों को मिलेगा जो राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना में चयनित है।

जयपुर में सबसे ज्यादा लाभान्वित

प्रदेश में सबसे ज्यादा लाभान्वित होने वाले लोग जयपुर जिले में हैं। यहां पर 31 लाख, 40 हजार 30 लोग इस योजना का लाभ लेंगे। दूसरे नम्बर पर अलवर (25 लाख, 15 हजार, 637), तीसरे नम्बर पर उदयपुर (23 लाख, 38 हजार, 547), चौथे नम्बर पर नागौर (23 लाख, 30 हजार, 523) तथा पांचवें नम्बर पर जोधपुर (21 लाख, 86 हजार, 228) है। इसी प्रकार बाड़मेर में (18 लाख, 89 हजार, 254), सवाई माधाेपुर में (17 लाख, 47 हजार, 972), भरतपुर में (15 लाख, 91 हजार, 316), अजमेर में 15 लाख, 89 हजार, 258) तथा भीलवाड़ा में 15 लाख, 07 हजार,549) लोग लाभान्वित होंगे।

अंगूठा जरूरी नहीं, ओटीपी से मिलेगी सामग्री

दुकान पर राशन सामग्री अब तक अंगूठा निशानी लगाकर बायोमीट्रिक सत्यापन करने पर ही मिलती थी। बिना इसके सामग्री दिए जाने पर पाबंदी थी। लेकिन कोरोना के कारण अब व्यवस्थाओं में बदलाव कर दिया गया है। नए आदेश के मुताबिक, सार्वजनिक वितरण प्रणाली की NFSA / PMGKY योजना में पॉस मशीन से राशन वितरण की वर्तमान व्यवस्था बायोमीट्रिक सत्यापन के साथ आधार ओटीपी के माध्यम से की जाएगी।

ऐसी रहेगी व्यवस्था

  • इसके लिए सर्वप्रथम डीलर द्वारा लाभार्थी का राशन कार्ड नंबर पॉस मशीन पर डाला जाएगा। इसके बाद लाभार्थी के आधार डेटाबेस में उपलब्ध मोबाइल नंबर पर एसएमएस के माध्यम से ओटीपी भेजा जाएगा।
  • लाभार्थी द्वारा डीलर को प्राप्त ओटीपी उपलब्ध करवाने के पश्चात पॉस मशीन में ओटीपी नंबर दर्ज कर सत्यापन उपरान्त राशन डीलर द्वारा राशन का वितरण लाभार्थी को पॉस मशीन से कर दिया जाएगा।
  • वर्तमान में चल रही ऑफलाइन उचित मूल्य दुकानों के अलावा राशन वितरण के समस्त ट्रांजेक्शन पॉस मशीन द्वारा ही किए जाएंगे।
  • यदि आधार ओटीपी के माध्यम से वितरण में कठिनाई हो तो बायोमीट्रिक सत्यापन से पूर्वानुसार वितरण किया जाएगा।

दुकानों को आवंटित किया गेहूं

मई एवं जून माह के लिए 5 किलो प्रति यूनिट अतिरिक्त गेहूं का आवंटन किया गया है। ये अतिरिक्त गेहूं राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना में चिन्हित परिवारों को निःशुल्क वितरित किया जाएगा। मई माह का अतिरिक्त गेहूं जून माह के नियमित गेहूं के साथ वितरित होगा। इस प्रकार जून माह में प्रति यूनिट 10 किलो गेहूं मिलेगा। इसमें 5 किलो जून माह का नियमित गेहूं तथा मई माह का अतिरिक्त 5 किलो गेहूं होगा।

इसी प्रकार जून माह का अतिरिक्त गेहूं जुलाई के नियमित गेहूं के साथ वितरित होगा। राष्ट्रीय सुरक्षा खाद्य योजना के अंतर्गत 1 करोड़ 6 लाख 19 हजार 126 परिवार चिन्हित हैं। इन परिवारों के 4 करोड़ 44 लाख सदस्य इससे सीधे लाभान्वित होंगे। वर्तमान में जून माह के लिए आवंटित गेहूं की आपूर्ति का काम पूरा किया जा चुका है। एक जून से इसका वितरण शुरू किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...