काेराेना सहायता पाेर्टल पर 300 आवेदन अपलाेड:काेराेना सहायता पाेर्टल पर 300 आवेदन अपलाेड; 469 विधवाओं को भुगतान

अजमेर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मुख्यमंत्री की घाेषणा के तहत काेराेना सहायता याेजना में दिया जाने वाला भुगतान अब केंद्रीयकृत किया जा रहा है। यह भुगतान राज्य सरकार के पाेर्टल पर दर्ज आवेदनाें के आधार पर ऑनलाइन जारी किया जाएगा।

जिला सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा आवेदन काेराेना सहायता पाेर्टल पर अपलाेड किए जा रहे हैं। अब तक जिला सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग 469 विधवा महिलाओं काे एक-एक लाख रुपए की सहायता के साथ ही एक माह की पेंशन भी दे चुका है। साथ ही 9 अनाथ बच्चाें के खाते में भी एक-एक लाख रुपए और पालनहार याेजना के तहत दी जाने वाली सहायता राशि जमा की जा चुकी है।

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के उपनिदेशक प्रफुल चाैबीसा के मुताबिक यह पाेर्टल शुरू हाेने के बाद आवेदन अपलाेड करने का काम किया जा रहा है। अब तक काेराेना सहायता याेजना के तहत 469 विधवाओं काे भुगतान दिया जा चुका है, इनके आवेदनाें काे पाेर्टल पर अपलाेड किया जा रहा है। मंगलवार तक 300 से ज्यादा आवेदन अपलाेड कर दिए गए थे। शेष आवेदन भी जल्द अपलाेड कर दिए जाएंगे।

उन्हाेंने बताया कि कुछ आवेदनाें में कमी पाई गई हैं। उनकी कमी पूर्ति कराकर उन्हें भी ऑनलाइन अपलाेड कर दिया जाएगा। उन्हाेंने बताया कि अब भुगतान केंद्रीयकृत तरीके से किया जाएगा। अब तक जिला स्तर पर विभाग की ओर से लाभार्थियाें काे भुगतान किया जा रहा था। लेकिन अब राज्य स्तर से यह भुगतान किया जाएगा।

आवेदन पहले की तरह ही देने हाेंगे

उपनिदेशक चाैबीसा ने बताया कि अभी तक आवेदन करने की जाे व्यवस्था चल रही है वह आगे भी चलेगी। ग्रामीण क्षेत्राें के आवेदन एसडीओ, बीडीओ और बीसीएमएचओ के जरिये ही आएंगे। जबकि शहरी क्षेत्र से आवेदन नगर निगम आयुक्त, सीएमएचओ और नगर निगम के काेराेना प्रभारी के जरिए आएंगे। इन्हें विभाग द्वारा पाेर्टल पर अपलाेड किया जाएगा।

कुछ आवेदनाें में मिली हैं कमियां

जितने आवेदन सही थे उनका भुगतान हाे चुका है। केंद्रीयकृत याेजना से भुगतान की घाेषणा के बाद शेष आवेदकाें काे भुगतान किया जाएगा। जाे आवेदन अब तक मिले हैं उनमें से 10 से 12 आवेदन ऐसे भी हैं जिनमेें छुटपुट कमियां हैं। कुछ के जनाधार कार्ड में खाता गलत लिखा हुआ है। कुछ आवेदन बच्चाें के आधार नंबर नहीं है। ऐसे आवेदन अभी पेंडिंग हैं।

50 हजार रुपए देने की गाइड लाइन अब नहीं आई

केंद्र सरकार ने सुप्रीम काेर्ट के निर्देश के बाद काेराेना से मृत व्यक्तियाें के आश्रिताें काे 50 हजार रुपए देने का फैसला लिया था। चाैबिसा ने बताया कि इस संबंध में राज्य सरकार की ओर से अभी तक काेई गाइड लाइन नहीं आई है। यह भुगतान किस विभाग के जरिए किस तरह से हाेगा, इस संबंध में काेई जानकारी नहीं है।

प्रदेश के 120 शिक्षकों मुआवजे का इंतजार

अजमेर कोरोना में ड्यूटी देते हुए जान गंवाने वाले प्रदेश के 120 शिक्षकों एवं कर्मचारियों को मुआवजे का इंतजार है। यह सभी प्रकरण शिक्षा निदेशालय बीकानर में पेंडिंग है। इसमें अजमेर जिले के 7 शिक्षकों के प्रकरण शामिल हैं। कोरोनाकाल में सर्वे सहित अन्य कार्य करने के दौरान कई शिक्षक भी संक्रमित हुए थे।


खबरें और भी हैं...