• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • 4 People Arrested From 3 Shops Continue To Be Questioned; The Horn Of The Reindeer, Claw Of Monitor Lizard And Ivory Powder Was Recovered

वन्य जीव अवशेष प्रकरण:देहरादून लैब की रिपोर्ट पर होगी कार्रवाई; पकडे़ गए 4 लोगों को जमानत पर छोड़ा; बारहसिंगा के सींग, मॉनिटर लिजॉर्ड के पंजे व हाथी दांत का पाउडर किया था बरामद

अजमेर8 महीने पहले
वन विभाग कर रहा जांच, आरोपियों से पूछताछ के बाद जमानत पर छोड़ा
  • अजमेर में तीन दुकानों पर की थी कार्रवाई

अजमेर के केसरगंज और नया बाजार क्षेत्र की तीन दुकानों से बरामद किए गए वन्य जीव अवशेष प्रकरण में वन विभाग की जांच जारी है। इन दुकानों से रविवार शाम बारहसिंगा के सींग, मॉनिटर लिजॉर्ड के पंजे व हाथी दांत के पाउडर किया और चार लोगों को हिरासत में लिया था।

इस सम्बन्ध में कार्यवाहक क्षेत्रीय वन अधिकारी राकेश मालाकार ने बताया कि बरामद किए गए अवशेषों को जांच के लिए देहरादून लेब में भेजा जाएगा। जांच रिपोर्ट आने पर कार्रवाई होगी। फिलहाल चारों को जमानत पर छोड़ दिया गया है।

तीनों दुकानों से ये बरामद

केसरगंज स्थित चाेर बनिए की दुकान से बारहसिंगा के सिंग 3 नग, माॅनिटर लिजाॅर्ड के पंजे 3 नग, इंद्रजाल 4 नग के अलावा कुथा और हाथी दांत का पाउडर बरामद किया गया। इसी तरह नया बाजार स्थित गुलाबचंद लादूराम की दुकान से बारहसिंगा के सिंग 1 नग, माॅनिटर लिजाॅर्ड (हत्था जाेड़ी) 11 नग और इंद्रजाल 3 नग बरामद किए गए हैं। नया बाजार स्थित चंद्रनारायण नरेंद्र कुमार भंडारी की दुकान से बारहसिंगा के सिंग 2 नग और माॅनिटर लिजाॅर्ड के पंजे 16 नग बरामद किए हैं।

तीनों दुकानों से इनको पकड़ा

केसरगंज से चाेर बनिए दुकान के मालिक राजकुमार जैन, नया बाजार स्थित गुलाबचंद लादूराम नाम से संचालित दुकान से आयुष अग्रवाल और चंद्र नारायण नरेंद्र कुमार भंडारी दुकान से राजेश और याेगेश काे हिरासत में लिया। जिनसे पूछताछ की जा रही है।

ऐसे खुली पोल, की कार्रवाई

वाइल्ड लाइफ इंडिया के एंटी पाेचिंग डिविजन के अधिकारी दीपक कुमार ने वन विभाग को सूचना दी। उनके पास अजमेर में जानवरों के अवशेष बेचे जाने की जानकारी थी और रविवार काे वे मध्यप्रदेश से अजमेर दरगाह जियारत के लिए पहुंचे और वे ही बाेगस ग्राहक बनकर दुकान पर गए। तब इस मामले की पोल खुली और वन विभाग ने कार्रवाई की।