अजमेर की सड़कों पर सख्त पुलिस:बेवजह घूमने वालों पर कार्रवाई कर वसूला जुर्माना; वाहन भी किए जब्त, सुबह के समय खुली दुकानों पर दिखी भीड़, दोपहर बाद सन्नाटा

अजमेर6 महीने पहले
चालान करती पुलिस

कोरोना संक्रमण को लेकर पुलिस की सख्ती सड़कों पर नजर आई। बेवजह घूमने वालों को पकड़कर चालान किया और जुर्माना वसूला। साथ ही कईं वाहन भी जब्त किए। वहीं दूसरी ओर से बाजारों में खुली दुकानों पर लोगों की भीड़ देखी गई। जहां सोशल डिस्टेंसिंग भी कम ही दिखाई दी। 11 बजे बाद भी खुली मिली दुकानों काे प्रशासन ने बंद कराया। इसके बाद बाजारों में सन्नाटा पसरा देखा गया। मुख्य मार्ग पर भी दोपहर बाद लोगों की आवाजाही कम ही नजर आई।

वाहन चालकों से पूछताछ करती पुलिस
वाहन चालकों से पूछताछ करती पुलिस

पुलिस की ओर से शहर में विभिन्न जगहों पर बेरीकेड्स लगाकर वाहन चालकों की जांच की जा रही है। बेवजह घूमने वालों पर कार्रवाई भी हो रही है। बुधवार को जिले भर में 749 लोगों के चालान कर पुलिस ने 99 हजार 300 रुपए का जुर्माना वसूला गया। इसमें मास्क नहीं लगाने व सोशल डिस्टेंसिंग की पालना नहीं करने वाले शामिल है। इसी प्रकार 221 वाहनों के चालान कर 53 वाहन जब्त किए गए।

दुकानों के बाहर ऐसे लगी रही भीड़
दुकानों के बाहर ऐसे लगी रही भीड़

अजमेर में कोरोना गाइड लाइन व लॉकडाउन लागू होने के बाद सुबह 6 बजे से 11 तक जरूरी सामान की दुकानों को छूट दी गई है। ऐसे में यह खुली रहती है। इस दौरान यहां पर कोई सख्ती नजर नहीं आती। यहां प्रशासन की ओर से दिए गए निर्देश के बाद गोले तो बना दिए गए लेकिन इन गाेलों में खड़ा होने के बजाय एक दूसरे से सटकर खड़े ग्राहक देखे जा सकते है।

ऐसा भी नहीं है कि प्रशासन की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की जाती लेकिन यह कार्रवाई केवल खाना-पूर्ति तक ही सीमित होती है और ऐसे में इस पर अंकुश लगता दिखाई नहीं दे रहा। प्रशासन की ओर से कोरोना गाइड लाइन का उल्लंघन करने वाले करीब पौने दो सौ प्रतिष्ठान सीज कर करीब दस लाख से ज्यादा का जुर्माना एक अप्रैल से अब तक वसूला गया है। इसके बावजूद लापरवाही थम नहीं रही।

खबरें और भी हैं...