पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अब नियमों का पेंच:आयु सीमा काे लेकर नियमों में संशोधन के बाद हाेगी अब पटवारी भर्ती परीक्षा

अजमेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 2019 में जारी हुआ था भर्ती परीक्षा का विज्ञापन
  • अब तक टलती रही परीक्षा

प्रदेश के करीब 13 लाख बेरोजगारों काे पटवारी सीधी भर्ती प्रतियाेगी परीक्षा-2019 के लिए एक बार फिर परीक्षा तिथि घाेषित हाेने का इंतजार है। दाे साल से यह परीक्षा किसी ने किसी कारण से टलती रही है। पिछले साल दिसंबर में राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड ने परीक्षा से मात्र 12 दिन पहले इसे रद्द करने की घाेषणा की थी। अब इस भर्ती परीक्षा के जल्द आयोजन की उम्मीद बंधी है। सरकार राजस्थान राजस्व अधीनस्थ सेवा नियम 2019 में संशोधन काे जितनी जल्दी मंजूरी देगी, उसके अनुरूप ही परीक्षा के आयोजन की प्रक्रिया वापस शुरू हाे सकती है। राजस्व मंडल के रजिस्ट्रार बीएल मीणा ने राज्य सरकार के राजस्व विभाग की ओर से 9 अप्रेल काे जारी पत्र के जवाब में 10 जून काे राजस्व विभाग के संयुक्त शासन सचिव(ग्रुप-1) काे पत्र के साथ ही िनयमाें में संशोधन संबंधी प्रस्ताव भिजवा दिया है। मंडल की ओर से भेजे गए पत्र में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (EWS) के अभ्यर्थियों को फीस एवं आयु में छूट का लाभ देने के लिए राजस्थान राजस्व (भू अभिलेख, भू प्रबंध एवं उपनिवेशन) अधीनस्थ सेवा नियम, 2019 के नियम 16 (b) (c) में संशोधन की जरूरत बताई है।

इसके साथ इन नियमों में प्रस्तावित संशोधन का ड्राफ्ट तैयार कर पत्र के साथ ही भिजवा दिया है। राजस्व विभाग काे ड्राफ्ट के अाधार पर संबंधित िनयमाें में संशोधन की कार्रवाई पूरी कर अधिसूचना जारी करनी है। इसके बाद परीक्षा की प्रक्रिया वापस शुरू हाे पाएगी।
यह होंगे संशोधित नियम
राजस्थान राजस्व (भू-अभिलेख, बंदोबस्त और उपनिवेश) अधीनस्थ सेवा (संशोधन) नियम, 2021 लागू किए जाएंगे। इसमें नियम 16 ​​(बी) में संशोधन कर सामान्य वर्ग से संबंधित महिला उम्मीदवारों और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के पुरुष उम्मीदवारों के मामले में 5 वर्ष, वहीं नियम 16(सी) में संशोधन के जरिये अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग अधिक पिछड़ा वर्ग और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग से संबंधित महिला उम्मीदवारों के मामले में 10 वर्ष आयु सीमा में छूट का प्रावधान किया जाना है।
4421 पद पर हाेनी है भर्ती
अधीनस्थ सेवा चयन बाेर्ड ने 2019 में पटवारी सीधी भर्ती परीक्षा की विज्ञप्ति जारी की, जिसके तहत 4421 पद पद भर्ती की जानी थी। वहीं प्रदेश में फिलहाल पटवारियाें के 5 हजार पद रिक्त हैं।

घाेषित तिथि से 12 दिन पहले रद्द हुई थी परीक्षा
पटवारी भर्ती परीक्षा 2019 काे पिछले साल दिसंबर में रद्द किया गया था। परीक्षा के महज 12 दिन ही बचे थे जब अधीनस्थ सेवा चयन बाेर्ड ने इसे रद्द किया। यह परीक्षा 10, 17 और 24 जनवरी को विभिन्न चरणों में होने वाली थी। पटवारी परीक्षा में 13.49 लाख युवाओं ने आवेदन किया था। कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के बाद पटवारी दूसरी बड़ी भर्ती परीक्षा थी। कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में लगभग 16 लाख अभ्यार्थियों ने आवेदन किए थे।

इसलिए पड़ी नियम में संशोधन की जरूरत
राज्य के कार्मिक विभाग ने राज्य की विभिन्न सेवाओं में संशोधन के लिए 16 अप्रैल काे अधिसूचना जारी की थी। इसके तहत आयु सीमा में संशोधन की जरूरत बताई गई थी। इसके आधार राज्य की 116 विभिन्न सेवाओं में भर्ती के लिए नियमों में संशोधन की अधिसूचना जारी की गई थी। इसी क्रम में पटवारी भर्ती के लिए भी नियम संशोधित करने की जरूरत पड़ी।

खबरें और भी हैं...