पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

युवाओं में उत्साह:सेना भर्ती, पहली बार हाे रही है आई स्कैनर से अभ्यर्थियों की पहचान

अजमेर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 2950 ने दी शारीरिक दक्षता परीक्षा, 330 अभ्यर्थी हुए सफल

सेना भर्ती रैली में पहली बार आई स्कैनर से अभ्यर्थियों की पहचान सुनिश्चित की जा रही है। इससे अभ्यर्थियों की वास्तविक पहचान सुनिश्चित हाेने के साथ फर्जी अभ्यर्थी की एंट्री पर पूरी तरह से नियंत्रण लग गया है। इससे पूर्व अंगूठे की छापों के माध्यम से पहचान सत्यापित करने की प्रक्रिया थी, इसमें पूर्व में कुछ भर्तियों में कमियां सामने आई थीं। इस बार सेना मुख्यालय के आदेशों पर बदलाव कर आधुनिक तकनीक वाले आई स्कैनर का इस्तेमाल किया जा रहा है। यह प्रयोग भारतीय सेना में पहली बार हो रहा है।

सेना भर्ती कार्यालय कोटा के निदेशक (भर्ती) कर्नल जॉयस के जोसेफ ने बताया कि भारतीय सेना में भर्ती के लिए पहली बार आई स्कैनर का उपयोग किया जा रहा है। शारीरिक दक्षता से पास होते ही अभ्यर्थी की आई इमेज को स्कैन करके कंप्यूटर में फीड कर दिया जाएगा। इससे दस्तावेज सत्यापन औैर अगले दिन मेडिकल के समय वास्तविक अभ्यर्थी ही उपस्थित हो पाएगा। संबंधित का आई इमेज डाटा में सेव रहेगा। इससे वास्तविक अभ्यर्थी का सत्यापन आसान होगा।

बूंदी जिले की 6 तहसीलों की भर्ती, 3947 ने कराया था पंजीयन

कर्नल जाेसेफ ने बताया कि बूंदी जिले की 6 तहसीलों के 2950 युवाओं ने शारीरिक दक्षता परीक्षा में अपना जोश दिखाया। हिंडाेली, इन्द्रगढ़, केसोरायपाटन, नैनवा औैर तालेड़ा तहसीलों के 3947 युवाओं ने रैली में भाग लेने के लिए पंजीकरण कराया था। इनमें से 2950 विद्यार्थी शारीरिक दक्षता परीक्षा के लिए पहुंचे। इन युवाओं को प्रवेश पत्र, आधार कार्ड औैर आरटीपीसीआर टेस्ट रिपोर्ट के आधार पर प्रवेश दिया गया। शारीरिक दक्षता परीक्षा में लगभग 330 अभ्यर्थी सफल होने पर उन्हें मेडिकल के लिए फिट पाया गया।

झालावाड़ के 230 अभ्यर्थी मेडिकल फिट

झालावाड की अकलेरा, अस्नावर, गंगधार, झालरापाटन, खानपुर, मनोहरथाना, पचपहाड़ औैर पिड़ावा तहसीलों के 255 युवा मेडिकल के लिए योग्य पाए गए। इनकी शारीरिक दक्षता औैर दस्तावेजाें की जांच का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। इनमें से 230 अभ्यर्थी मेडिकल फिट घोषित किए गए। शेष अभ्यर्थी मेडिकल जांच का रिव्यू आगामी एक सप्ताह में सैनिक चिकित्सालय जयपुर अथवा कोटा में करवा सकते हैं। मेडिकल में सही पाए गए अभ्यर्थियों की सेना में भर्ती की कार्यवाही आगे बढ़ाई जाएगी।

खबरें और भी हैं...