पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • Begum Won By 53 year old Mafia Begum From Various Diseases Including BP And Sugar; Said Do Not Let Negative Thoughts Dominate You, Keep Courage

हिम्मत से दी कोरोना को शिकस्त:शुगर-बीपी और थाइराईड की बीमारी, किडनी में इंफेक्शन, फेफड़े भी 92% खराब हुए; आखिर ठीक होकर घर लोटी महिला

अजमेर2 महीने पहले

जहां एक तरफ कोरोना से मौत के आंकड़े लगातार बढ़ रहे हैं। वहीं, अजमेर की 53 वर्षीय माफिया बेगम उसे हराकर वापस लौटी। कोरोना को हराने के बाद उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी ने सभी के दिलों में डर पैदा कर दिया है। यदि हर व्यक्ति हिम्मत और हौसला मजबूत रखे और नकारात्मक विचारों को हावी नहीं होने दे तो कोरोना को शिकस्त देना कोई बड़ी बात नहीं है। परिवार के लोग भी घबराएं नहीं, परिस्थितियों को साहस के साथ मुकाबला करें। समय पर सही परामर्श और इलाज मिल जाए तो मरीज की भी हिम्मत बढ़ती है और वह भी इस बीमारी का मुकाबला करने के लिए मानसिक तौर पर तैयार हो जाता है।

सराधना निवासी माफिया बेगम ने बताया कि 17 अप्रैल 2021 को दोपहर करीब 3.30 बजे घबराहट हुई। इसके बाद सांस लेने मे भी तकलीफ होने लगी। इस पर उन्होंने तुरंत डॉ. विनीत कुमार गर्ग से फोन पर बात की। डॉक्टर ने तुरंत सिटी स्कैन कराने की सलाह दी। धीरे-धीरे तकलीफ बढ़ने लग गई। बेटे व बहु दोनों बहुत घबरा गए। डॉक्टर गर्ग को बताया तो उन्होंने ऑक्सीजन सिलेंडर जांच सेंटर पर पहुंचा दिया। ऑक्सीजन लगा कर हम अस्पताल पहुंचे।

अस्पताल पहुंचते ही ऑक्सीजन लेवल चैक किया तो 35-38 आ रहा था। सिटी स्कैन का स्कोर 23/25 था। इसका मतलब फेफड़ों के 25 में से 23 हिस्से खराब हो चुके थे। अस्पताल में एडमिट कर इलाज शुरु कर दिया। लगभग 2 घंटे बाद होश आया। चिकित्सा टीम भी इलाज में पूरी जुटी हुई थी। फिर डॉक्टर ने बताया कि 72 घंटे रिस्क है। ये 72 घंटे हम सबके लिए बड़ी चुनौती थी। हम सोए तक नही।

माफिया बेगम ने बताया कि पूर्व में शुगर, बीपी, थाइराईड, हृदय एवं किडनी में इंफेक्शन की बीमारी है। लेकिन लगातार सेवा और दुआओं से 72 घंटे का यह कठिन समय पार हो गया। फेफड़ों में 92% नुकसान होने के बाद भी सही सलामत रहना हमारे लिए चमत्कार से कम नहीं था। 8 दिनों तक ऑक्सीजन सिलेंडर पर रही और 9 दिन बाद पूर्णत ठीक होने के बाद उन्हें डिस्चार्ज कर दिया। अभी ऑक्सीजन सिलेंडर की आवश्यकता नहीं है।

(रिपोर्ट: आरिफ कुरेशी)

खबरें और भी हैं...