ड्राइवर ने की थी मालकिन से ऑनलाइन ठगी:35 हजार का ब्रांडेड मोबाइल खरीदा, अपनी वैन की किस्त जमा कराई, आरोपी गिरफ्तार

अजमेर8 महीने पहले
गिरफ्तार आरोपी ड्राइवर। - Dainik Bhaskar
गिरफ्तार आरोपी ड्राइवर।

क्रिश्चनगंज थाना इलाके में रहने वाली मनप्रीत कौर के साथ उन्हीं के ड्राइवर ने ऑनलाइन फ्रॉड किया था। पुलिस ने आरोपी ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया है। ड्राइवर योगेश जांगिड़ मनप्रीत कौर के घर में नौकर का काम भी करता था। इसलिये वह घर में आता जाता रहता था। मनप्रीत कौर के अकाउंट से जब बिना ओटीपी 30 हजार रुपए उड़ गए तो उन्होंने पुलिस में शिकायत की थी।

इस तरह की ऑनलाइन ठगी
आरोपी ने अपने मोबाइल से मालकिन मनप्रीत के डेबिट कार्ड की चुपके से फोटो खींच ली थी। डेबिट कार्ड के नंबर उसने अपने पेटीएम अकाउंट में दर्ज कर लिये। इसके बाद उसे ठगी करने के लिए उन ओटीपी नंबर की जरूरत थी, जो मालकिन के फोन पर आने थे। इसके लिए आरोपी ने वारदात के लिए वही वक्त चुना जब मालिकन आस-पास न हो और उसका फोन चार्जिंग में लगा हो, या वह ओटीपी देख सके। इस तह आरोपी ने तीन बार में मालिकन के अकाउंट से 45 हजार रुपए निकाल लिए।

परिचित मोबाइल शॉप से कराया कैश
आरोपी क्रिश्चनगंज इलाके में ही एक मोबाइल शॉप पर काम किया करता था। उसने उस शॉप मालिक से कहा कि उसका एटीएम खो गया है। उसने पेटीएम से शॉप मालिक के अकाउंट में ठगी का पैसा जमा कराया और उससे बाद में कैश ले लिया। पुलिस इस मामले में मोबाइल शॉप मालिक की भूमिका के बारे में पता लगा रही है।

शौक और किस्त में उड़ाया पैसा
ASI रणवीर सिंह ने बताया कि आरोपी ड्राइवर योगेेश ने ऑनलाइन ठगी के पैसे से अपना शौक पूरा किया और अपनी वैन की किस्त चुकाई। उसने 35 हजार का ब्रांडेड मोबाइल खरीद लिया और बाकी बचे 10 हजार रुपये से एक निजी बैंक में अपनी वैन की किस्त चुका दी। पुलिस गिरफ्तार किए आरोपी से मामले में पूछताछ कर रही है।

साइबर सेल की मदद से खुला मामला
मामले में पुलिस मुकदमा दर्ज कर जांच कर रही थी। इस दौरान बैंक से पेटीएम के जरिये ट्रांजैक्शन होने की जानकारी मिली। इसके बाद साइबर सेल की मदद ली गई। जिसमें मनप्रीत के अकाउंट से तीन ट्रांजैक्शन के जरिए पैसे निकाले गए थे। पुलिस का शक ड्राइवर योगेश जांगिड़ पर ही गया। पूछताछ के बाद पुलिस ने चौरसियावास रोड गली नंबर 3 निवासी योगेश जांगिड़ पुत्र सुभाष जांगिड़ को गिरफ्तार किया। जिसने अपनी मालकिन मनप्रीत कौर के साथ ठगी की वारदात को अंजाम देना कबूल किया।

पढे़ ये खबर भी...अजमेर में महिला से ऑनलाइन ठगी:बिना OTP बताए अकाउंट से निकाले 30 हजार, न्यूरोसर्जन रहे डॉ. दत्ता की पत्नी ने कराई FIR

खबरें और भी हैं...