पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • Break Out Of JLN Hospital; Family Allegation Police Did Not Let In, Police And Administration Gave Clarification, Said Family Did Not Take It Inside

अजमेर में महिला की मौत का VIDEO वायरल:JLN अस्पताल के बाहर तोड़ा दम; परिजन का आरोप-पुलिस ने अन्दर नहीं जाने दिया, पुलिस व प्रशासन ने दी सफाई, कहा-परिजन नहीं लेकर गए अन्दर

अजमेर3 महीने पहले
सड़क पर पड़ा मृतक शव

अजमेर के जवाहर लाल नेहरू चिकित्सालय के बाहर एक बुजुर्ग महिला ने दम तोड़ दिया। परिजन ने इसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल किया। जिसमें उनका आरोप था कि महिला को पुलिस ने अन्दर नहीं ले जाने दिया और उपचार के अभाव में महिला की मौत हो गई। वहीं इस मामले में वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने सफाई दी कि परिजन महिला को अन्दर नहीं लेकर गए। इसके साथ ही अस्पताल प्रशासन ने दावा किया कि चिकित्सालय के कोविड वार्ड में मरीजों को दिखाने, भर्ती करने एवं उपचार करने के साथ ही उन्हें निर्धारित स्थान पर पहुंचाने की भी पूरी व्यवस्था की गई है।

यह है वायरल वीडियो....

वीडियो में वीडियो बनाने वाले व्यक्ति की ओर से बताया जा रहा है कि अजमेर का यह सबसे बड़ा हॉस्पिटल है और यहां पुलिस तैनात है और हमें अन्दर नहीं जाने दिया गया। यह कहा गया है कि बेड खाली नहीं है। अब हमारी माताजी ने तड़प तड़प कर दम तोड़ दिया। वीडियो की शुरूआत में पुलिसकर्मी कुर्सियों पर बैठे हुए और बाद में जब वीडियो बनने लगा तो पुलिसकर्मी खडे़ हुए। इस दौरान कुछ लोग भी एकत्र हुए है।

वीडियो में नहीं पता चल रही पहचान

वीडियो में मृतक व उनके परिजन की कोई पहचान पता नहीं चल रही है। न ही शाम तक इस मामले में कोई शिकायत प्रशासन तक नहीं पहुंची है।

वीडियो वायरल होने के बाद जारी किए बयान

कोतवाली थाना प्रभारी शमशेर खान ने बताया कि रविवार को सुबह कुछ लोग एक वृद्ध महिला को चिकित्सालय के कोविड वार्ड पर दिखाने लाए थे। महिला की गम्भीर स्तिथि को देखते हुए ड्यूटी पर तैनात जवानों ने उन्हें वाहन सहित अंदर जाने को कहा था। लेकिन उनके साथ आए परिजन मरीज को अंदर नहीं ले गए। दो व्यक्ति चिकित्सकों से मिलने अंदर गए।

खान ने बताया कि थोड़ी देर वे दोनों बाहर आए और महिला को जमीन पर लिटा कर वीडियो बनाया। इस घटना के पश्चात भी जवानों ने उन्हें वाहन सहित अंदर जाकर दिखाने की सलाह दी थी। लेकिन परिजन अंदर नहीं जाकर शास्त्री नगर रोड की ओर चले गए। चिकित्सालय में आने वाले प्रत्येक मरीज और उसके परिजन को निर्धारित प्रक्रिया के तहत अंदर भेजा जाता है।

वहीं, चिकित्सालय के कार्यवाहक अधीक्षक डॉ नीरज गुप्ता ने बताया कि अस्पताल में कोरोना रोगियों के उपचार के लिए चिकित्सक और नर्सिंगकर्मी पूरी गम्भीरता और सम्वेदनशीलता के साथ काम कर रहे हैं। चिकित्सालय के कोविड वार्ड में मरीजों को दिखाने, भर्ती करने एवं उपचार करने के साथ ही उन्हें निर्धारित स्थान पर पहुंचाने की भी पूरी व्यवस्था की गई है।

यह खबर भी पढे़ं....अजमेर में गड़बड़ाई चिकित्सा व्यवस्था, देंखे VIDEO:भर्ती तो दूर, चिकित्सा परामर्श तक नहीं मिला; तबीयत बिगड़ी तो 108 एम्बूलेंस में JLN अस्पताल ले गए,एन्ट्री नहीं दी, तो वापस घर छोड़ा

खबरें और भी हैं...