साढे़ 6 लाख की ऑनलाइन ठगी:बिजली बिल बकाया का मैसेज भेजकर दिया झांसा, 5 बार में विड्रोल किए रुपए

अजमेर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल इमेज - Dainik Bhaskar
फाइल इमेज

अजमेर जिले के ब्यावर में ऑनलाइन ठगी का मामला सामने आया है। पीड़ित को बिजली बिल बकाया होने का मैसेज भेजा और जैसे ही लिंक पर क्लिक किया, खाते से पांच बार में साढे़ 6 लाख रुपए विड्रोल कर लिए। ब्यावर सिटी थाना पुलिस ने पीड़ित की रिपोर्ट पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

जमालपुरा सेंदड़ा रोड ब्यावर निवासी बृज कुमार कुमावत ने रिपोर्ट देकर बताया कि 3 नवम्बर को सुबह मोबाइल पर कॉल आया कि बिजली बिल बकाया है। इसके तुरन्त बाद एक मैसेज आया। जिसमें बिल अपडेट करने के लिए लिंक था। क्लिक करते ही मोबाइल हैक कर लिया गया और पांच बार में 6 लाख 56 हजार रुपए विड्रोल कर लिया। इसकी सूचना एसबीआई मुख्य शाखा ब्यावर एवं साइबर क्राइम को दे दी गई। आरोपियों ने धोखाधड़ी पूर्वक जालसाजी कर राशि हड़प ली। अत: कार्रवाई की जाए। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच एएसआई बाबूलाल को सौंपी है।

अजमेर डिस्कॉम जारी कर चुका अपील-ठगों से रहे सावधान

अजमेर डिस्कॉम पहले ही बिजली उपभोक्ताओं से कनेक्शन काटने के फर्जी संदेशों से सावधान रहने की अपील कर चुका है। निगम ने बताया कि साइबर ठग उपभोक्ताओं के मोबाइल पर फर्जी बिल व संदेश भेजकर उन्हें आर्थिक नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं। डिस्कॉम शाम 6 बजे के बाद किसी का भी कनेक्शन नहीं काटता है। डिस्कॉम के अधिकृत नम्बरों से मिले संदेशों पर ही विश्वास किया जाए। (पूरी खबर पढ़ने के लिए करें क्लिक)

अजमेर में पहले भी हो चुकी है ठगी की वारदातें...पढे़ ये खबरें...

ठगी का शिकार दम्पती-फाइल फोटो
ठगी का शिकार दम्पती-फाइल फोटो

केस संख्या-1 : रिटायर्ड बैंक मैनेजर महिला से ठगी

पंजाब नेशनल बैंक की रिटायर्ड मैनेजर महिला वैशालीनगर निवासी नीलम वच्छानी के साथ 27 मार्च को करीब 2 लाख की ऑनलाइन ठगी की गई। आरोपी ने बिजली बिल जमा नहीं होने की बात बताकर ऐप डाउनलोड करवाए और बाद में जानकारी हासिल तीन खातों से यह राशि निकाली। पीड़िता की रिपोर्ट पर क्रिश्चयनगंज थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की। पीड़िता के पति जगदीश वच्छानी ने बताया कि आरोपी ने कईं ट्रांजेक्शन किए और तीन खातों में मिनिमम बैलेंस भी नहीं छोड़ा।

ठगी का शिकार अधिकारी।
ठगी का शिकार अधिकारी।

केस संख्या-2 : रेलवे अधिकारी के साथ ठगी

अजमेर में रेलवे अधिकारी हरीभाऊ उपाध्याय नगर निवासी धर्मेंद्र कुमार ओझा पुत्र रमेश चंद ओझा को बदमाशों ने बिजली का कनेक्शन काटने का झांसा दिया और फिर क्विक शेयर एप डाउनलोड करवा कर 35 हजार 900 रुपए विड्रोल कर लिए। मामले में साइबर सेल के साथ क्रिश्चियन गंज थाने में शिकायत दर्ज करवाई गई है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

केस संख्या-3: 2 लाख रुपए की ठगी

करीब एक माह पहले क्रिश्चयनगंज निवासी आइवी नथेनिएल पत्नि हीरालाल नथेनिएल ( 80) ने रिपोर्ट देकर बताया कि उसका खाता बैक ऑफ बडौदा सावित्री गर्ल्स स्कूल अजमेर में है। बिजली बिल जमा नहीं होने की बात कहते हुए मैसेज भेज गए। मैसेज मे दिए गए लिंक पर क्लिक करने एक लाख निनयानवे हजार नौ सौ छियानवें खाते में कम हो गए। अत: ठगी करने वाले के खिलाफ कार्रवाई की जाए। क्रिश्चयनगंज थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच एएसआई मोइनुद्दीन को सौपी।

केस संख्या -4: खाते से 71,900 रुपए विड्रोल

लोहाखान, अजमेर निवासी वकील सोभागमल जादम के साथ करीब पांच माह पहले ऑनलाइन ठगी की गई। आरोपी ने बिजली बिल बकाया होने का झांसा देकर ऐप इन्स्टॉल कराया। खाते से 71,900 रुपए विड्रोल कर लिए। पीड़ित ने सिविल लाइन थाने में मामला दर्ज कराया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।