पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अजमेर दरगाह का 809वां उर्स:CM गहलोत ने सोनिया-राहुल की तरफ से चादर पेश की, कांग्रेस अध्यक्ष ने संदेश में लिखा- मुश्किल हालात से गुजर रहा मुल्क

अजमेर2 महीने पहले
गुरुवार को मुख्यमंत्री गहलोत ने दरगाह में सोनिया और राहुल गांधी की तरफ से भेजी गई चादर पेश की। इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष डोटासरा भी साथ रहे हैं।
  • हैदराबाद में राबिया खान की ओर से हाथ से तैयार की गई थी मखमली चादर
  • पिछले साल चादर चढ़ाने गहलोत के साथ सचिन पायलट भी थे, इस बार नहीं आए

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत गुरुवार को अजमेर पहुंचे। यहां दरगाह के 809 वें उर्स में कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी व पूर्व अध्यक्ष राहुल की तरफ से गहलोत ने चादर पेश की। जब गहलोत दरगाह पहुंचे तो पुलिस ने जायरीनों का प्रवेश रोक दिया था। दरगाह में पेश की जाने वाली यह चादर हैदराबाद में तैयार की गई है। इसे राबिया खान नाम की महिला ने अपने हाथों से बनाया है।

गहलोत बेंगलुरु से विशेष विमान से सीधे अजमेर के किशनगढ़ एयरपोर्ट पहुंचे। वहां से दरगाह पहुंचे, जियारत करके चादर पेश की। इस दौरान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा भी उनके साथ रहे। गहलोत करीब 20 मिनट तक दरगाह में रुके। इससे पहले एयरपोर्ट से लेकर अजमेर के बीच कई जगहों पर मुख्यमंत्री का स्वागत भी किया गया।

मुश्किल हालात से गुजर रहा है मुल्क: सोनिया गांधी का संदेश
गहलोत ने सोनिया गांधी का जायरीनों के नाम भेजा संदेश भी पढ़कर सुनाया। इसमें कहा गया कि मुल्क मुश्किल हालात से गुजर रहा है। काेरोना काल में इंसानियत को मुश्किल वक्त से दो-चार होना पड़ा। साथ ही मुल्क में ऐसी ताकत की कुव्वत मिली जिन्होंने इसके ताने बाने और सदियों पुरानी कौमी एकता को कमजोर करने और नफरत फैलाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। आज इस मुल्क के आवाम से लेकर किसान तक अपने हक के लिए जदाेजहद कर रहे हैं। जम्हूरियत को कमजोर किया जा रहा है।

नहीं दिखी सोशल डिस्टेंसिंग
मुख्यमंत्री के दरगाह दौरे के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग नहीं दिखी। मुख्यमंत्री खुद चादर लेकर चले और इस दौरान सभी एक दूसरे से सटे हुए थे। साथ ही जहां जायरीनों को रस्सी लगाकर अलग-अलग जगह रोका गया, वहां भी सोशल डिस्टेंसिंग नहीं दिखी।

मंगलवार को नई दिल्ली में राहुल गांधी ने कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के राष्ट्रीय अध्यक्ष नदीम जावेद को यह चादर सौंपी।
मंगलवार को नई दिल्ली में राहुल गांधी ने कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के राष्ट्रीय अध्यक्ष नदीम जावेद को यह चादर सौंपी।

हैदराबाद की राबिया खान का परिवार ही करता है गांधी परिवार की चादर तैयार
दरगाह के खादिम सैय्यद गनी गुर्देजी ने बताया कि हैदराबाद में राबिया खान की ओर से सोनिया गांधी व राहुल गांधी की चादर तैयार की जाती है। यह हाथ से बनी हुई होती है। इसमें दरगाह शरीफ का गुंबद हरे रंग से, काले रंग से मक्का शरीफ, विभिन्न रंगों से मदीना शरीफ की आकृति है। चादर में उर्दू में पंजतम पाक के नाम के साथ कलमा लिखे होते हैं। इस लम्बाई चौड़ाई लगभग मजार शरीफ जितनी है। उन्होंने बताया कि हैदराबाद का रादिया खान का परिवार ही गांधी परिवार के लिए चादर तैयार करता रहा है और इस बार भी हैदराबाद से ही तैयार करके चादर दिल्ली भिजवाई गई।

यह फोटो पिछले साल उर्स की है। तब गहलोत के साथ सचिन पायलट भी दरगाह में चादर पेश करने आए थे।
यह फोटो पिछले साल उर्स की है। तब गहलोत के साथ सचिन पायलट भी दरगाह में चादर पेश करने आए थे।

पिछले साल गहलोत के साथ सचिन भी आए थे
मंगलवार को नई दिल्ली में कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के राष्ट्रीय अध्यक्ष नदीम जावेद को राहुल गांधी ने यह चादर सौंपी। पिछले साल चादर लेकर आए गहलोत के साथ सचिन पायलट भी आए थे। लेकिन, इस बार पायलट नहीं आए। इससे पहले बुधवार को दरगाह में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की चादर पेश कर अमन और खुशहाली की दुआ मांगी गई थी। राजस्थान वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. खानू खान चादर लेकर अजमेर पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री गहलोत का संदेश भी पढ़कर सुनाया था।

दिल्ली में केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास को पीएम ने चादर सौंपी थी।
दिल्ली में केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास को पीएम ने चादर सौंपी थी।

बसंत पंचमी के दिन पीएम की चादर पेश की गई
इससे पहले मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से दरगाह में बसंती रंग की चादर पेश की गई थी। बसंत पंचमी के खास दिन को देखते हुए चादर का यह रंग चुना गया। गरीब नवाज की मजार पर चादर पेश करने के लिए केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी यहां आए थे। उनके साथ अजमेर सांसद भागीरथ चौधरी भी थे। उन्होंने चादर पेश कर मुल्क में खुशहाली, तरक्की और दुनिया से कोरोना की समाप्ति के लिए दुआ की। जायरीन के नाम भेजा प्रधानमंत्री का संदेश पढ़कर सुनाया था।

पाकिस्तान से जायरीन का जत्था नहीं आया, लेकिन इमरान सरकार की ओर से चादर पेश की
इससे पहले सोमवार को पाकिस्तान सरकार की तरफ से दरगाह में चादर पेश की गई। इस बार पाकिस्तान के जायरीन का जत्था तो नहीं आया लेकिन, इमरान सरकार की ओर से भारत में पाकिस्तान दूतावास में उप उच्चायुक्त आफताब हुसैन ने गरीब नवाज की मजार पर चादर पेश कर भारत और पाकिस्तान के मजबूत रिश्तों के लिए दुआ मांगी थी।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय निवेश जैसे किसी आर्थिक गतिविधि में व्यस्तता रहेगी। लंबे समय से चली आ रही किसी चिंता से भी राहत मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए बहुत ही फायदेमंद तथा सकून दायक रहेगा। ...

और पढ़ें