ढाई माह के मासूम को गला घोंटकर ही मारा:मेडिकल बोर्ड की रिपोर्ट से हुई पुष्टि; पुलिस ने लिए बयान, मां को सास पर शक

अजमेर3 महीने पहले
मृतक मासूम।

अजमेर जिले के डूमाडा गांव में ढाई महीने के मासूम को गला घोट कर मार डालने की पुष्टि मेडिकल बोर्ड से किए गए पोस्टमार्टम में हो चुकी है। मृतक की मां ने रंजिश को लेकर अपनी सास व देवरानी पर शक जताते हुए यह आरोप लगाया और पुलिस ने डूमाडा के ग्रामीणों तथा परिजन के बयान दर्ज किए। हालाकिं अभी तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी या पुलिस ने आरोप तय नहीं किए है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

मां ने यह दर्ज कराया था मामला

डूमाड़ा निवासी पूजा देवी पत्नी पुष्‍पेन्‍द्र सिंह सेन ने रिपोर्ट देकर बताया कि वह 13 मई को अपने घर पर ही थी और उसकी ढाई माह का बच्‍चा पंकज पास था। उसे चोक में झूला रखा था और वह कमरे में खाना बना रही थी। शाम को पांच बजे बच्‍चे को दुध पिलाने के लिए उठाया तो व हिला नहीं। सास नीता सैन की ओर से बच्चे को मौका देखकर गला दबा दिया। वह और उसके पति उसे एम्बूलेंस की मदद से पीसांगन अस्‍पताल लेकर गए, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।

रिपोर्ट में बताया कि सास नीता से काफी दिनों से रंजिश चल रही है व उसे व उसके पति को भी अपनी जायदाद से बेदखल करने के प्रयास किये जा रहे है। सास द्वारा पुत्र का गला दबाकर हत्‍या की है और देवरानी काजल पर भी शंका है। अत: कार्रवाई की जाए।

मृतक के मां और बाप।
मृतक के मां और बाप।

ग्रामीणों व परिजन के बयान दर्ज किए

पीड़िता पूजा की ओर से अपनी सास नीता तथा देवरानी काजल के खिलाफ मासूम की गला घोटकर हत्या करने के आरोप लगाने पर पुलिस ने मासूम के शव का अजमेर मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाया। रविवार को मेडिकल बोर्ड की रिपोर्ट मिलने पर मासूम की गला घोट कर मृत्यु होने की पुष्टि हुई। घटना को लेकर थाना प्रभारी दातार सिंह ने मय जाब्ते के डूमाडा पहुंचे और डूमाडा के ग्रामीणों तथा घटनास्थल के आसपास के पड़ोसियों के बयान कलमबद्ध किए। मांगलियावास थाना SHO दातारसिंह ने बताया कि आज बयान दर्ज किए गए है और पुलिस जांच कर रही है।

पढे़ ये खबर भी....