पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना से मृत्यु दर 4.58 प्रतिशत रही:कोरोना ने लीला 124 रेल कर्मचारियों और उनके परिजनों का जीवन

अजमेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना की पहली और दूसरी लहर में अजमेर रेल मंडल में 124 रेल कर्मचारियों और उनके परिजनों जिंदगी की जंग हारी है, अजमेर रेल मंडल में कोरोना से होने वाली मृत्यु दर 4.58 प्रतिशत रही है। यानी अजमेर रेल मंडल में प्रत्येक 100 कोरोना संक्रमितों में 4 से ज्यादा लोगों की जान गई। कोरोना का ज्यादा प्रभाव दूसरी लहर में रहा। अजमेर रेल मंडल में करीब ढाई हजार रेल कर्मचारी और उनके परिजन पॉजिटिव पाए गए थे। अजमेर रेल मंडल के अजमेर सहित अन्य जगहों के अस्पतालों में 1 लाख 15 हजार की रेलवे कर्मचारी और उनके परिवार की आबादी उपचार करवाती है। इनमें से 14 हजार 600 रेल कर्मचारी हैं। बाकी उनके परिजन और रिटायर्ड रेल कर्मचारी हैं। कोरोना की पहली और दूसरी लहर में रनिंग स्टाफ के कर्मचारियों के ज्यादा संक्रमित होने के मामले पाए गए।

अब तक 38 कर्मचारियों की मौत हो चुकी है, इसमें से 29 कर्मचारी डीआरएम दफ्तर और 11 कर्मचारी रेलवे कारखाने के हैं। इनमें महिला कर्मचारियों की मौत बहुत ही कम है। मालूम हो कि अजमेर रेल मंडल में 14600 कर्मचारियों में से करीब 11 हजार कर्मचारी अजमेर में है। बता दें कि करीब 90 हजार से ज्यादा रेल कर्मचारी, रिटायर्ड कर्मचारी और उनके परिजनों का उपचार अजमेर रेलवे अस्पताल और रेलवे से संबद्ध निजी अस्पतालों में होता है।

खबरें और भी हैं...