पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

निर्माण कार्य:फाेरलेन से सिक्सलेन बन रही सड़क के दाेनों ओर बनेगा क्राॅस ड्रेनेज सिस्टम

अजमेर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बस स्टैंड से यूनिवर्सिटी तिराहा तक 5.17 किमी की फोरलेन सड़क काे सिक्सलेन करने का काम शुरू

स्मार्ट सिटी अजमेर के प्रवेशद्वार से सड़कें चाैड़ी हाेने का काम शुरू हाे गया है। एमडीएस तिराहा जयपुर राेड से राेडवेज बस स्टैंड तक 5.17 किलाेमीटर की सड़क फोरलेन से सिक्सलेन बनाई जा रही है। स्मार्ट सिटी प्राेजेक्ट के तहत यह कार्य आने वाले छह माह के दाैरान यह काम पूरा हाेगा। करीब 27 कराेड़ की लागत से यह सड़क बनाई जा रही है। स्मार्ट सिटी का प्रवेशद्वार पर अजमेर के इतिहास काे दर्शाने वाले स्मारक बनेंगे, ताकि बाहर से आने वाले देशी-विदेशी सैलानियाें काे यह पता लग सके कि अजमेर स्मार्ट सिटी है।

दूर हाेंगी आमजन की ये परेशानियां
1. सड़काें पर भर जाता है बरसाती नालाें का पानी
> बारिश के समय राेडवेज बस स्टैंड के बाहर, कचहरी के बाहर और आगे की सड़क पर नालाें का पानी भर जाता है। ड्रेनेस नहीं हाेने के कारण यह परेशानी पिछले लंबे अरसे से जस की तस बनी हुई है।
> बस स्टैंड के बाहर एक से डेढ़ फीट तक पानी भर जाता है, जिसकी वजह से यातायात बाधित हाे जाता है और जाम लगने से वाहनाें की लंबी कतार लग जाती है।
> क्रास ड्रेनेज सिस्टम बनेगा। सिक्सलेन के दाेनाें ओर महानगराें की तर्ज पर नालियां बनाई जाएंगी, ताकि सड़काें पर बरसाती नालाें का पानी नहीं भरे। क्रास ड्रेनेज सिस्टम बनने के बाद सड़काें पर पानी भरने की परेशानी से निजात मिल जाएगा।

2. जगह-जगह अतिक्रमण से बिगड़ रहे हैं हालात
> राेडवेज बस स्टैंड से एमडीएस तिराहा तक जगह-जगह अतिक्रमण कर लाेगाें ने कब्जा कर रखा है। इससे राेड किनारे पार्किंग की पर्याप्त जगह नहीं मिल पाती है, पूरी सड़क पर बेतरतीब वाहन खड़े नजर आते हैं।
> आरपीएस, आईजी ऑफिस, आबकारी ऑफिस, जिला उद्याेग विभाग, काेर्ट, बाल कल्याण विभाग, आयकर विभाग, जीएसटी विभाग सहित अन्य कई सरकारी विभाग और स्कूल-काॅलेज भी इसी राेड पर हैं। ट्रैफिक का भारी दबाव रहता है, अतिक्रमण के कारण कई बार जाम के हालात बनते हैं।

जल्द हटेंगे अतिक्रमण
>जिला प्रशासन द्वारा इस राेड से जल्द ही अतिक्रमण हटाने के लिए बड़ी कार्रवाई की जाएगी। स्थाई और अस्थाई अतिक्रमण पूर्व में ही चिह्नित कर लिए गए थे। पहले चरण में समझाइश हाेगी, यदि काेई नहीं माना ताे जिला प्रशासन सख्ती दिखाएगा। अतिक्रमण हटने के बाद सड़क के दाेनाें ओर पार्किंग लाइन बनेगी और पार्किंग के लिए पर्याप्त जगह मिलेगी।

महानगराें की तर्ज पर हाे रहा है निर्माण
स्मार्ट सिटी की इस राेड का निर्माण महानगराें की तर्ज पर किया जा रहा है। डिवाइडर पर ग्रीनरी के लिए पेड़-पाैधे लगाए जाएंगे, सड़क चमचमाती नजर आएगी ताकि शहर में प्रवेश करते ही ग्रीन सिटी क्लीन सिटी का संदेश मिले। स्पीड ब्रेकर भी तय मापदंड के अनुरूप बनेंगे, स्कूल-काॅलेज के बाहर आैर सरकारी दफ्तराें के बाहर स्पीड नियंत्रण के साइनबाेर्ड लगेंगे ताकि काेई हादसाें का शिकार नहीं हाे। ट्रैफिक प्वाइंट काे भी स्मार्ट बनाया जाएगा।
सड़क बनने के बाद यातायात हाेगा सुगम
^27 कराेड़ से राेडवेज बस स्टैंड से यूनिवर्सिटी तिराहे तक फोरलेन काे सिक्सलेन करने का काम शुरू हाे चुका है। 5.17 किमी सड़क काे सिक्सलेन बनाया जाएगा ताकि स्मार्ट सिटी में ट्रैफिक सुगम बन सके।
अनिल विजयवर्गीय, चीफ इंजीनियर, स्मार्ट सिटी लिमिटेड

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - धर्म-कर्म और आध्यामिकता के प्रति आपका विश्वास आपके अंदर शांति और सकारात्मक ऊर्जा का संचार कर रहा है। आप जीवन को सकारात्मक नजरिए से समझने की कोशिश कर रहे हैं। जो कि एक बेहतरीन उपलब्धि है। ने...

और पढ़ें