घरों में मनाया लोहड़ी का पर्व:पंजाबी गीतों पर थिरके, प्रसाद का किया वितरण, नवविवाहित जोड़ों व नवजात शिशुओं का किया सम्मान

अजमेर6 महीने पहले
घरों में लोहड़ी का मनाया पर्व मनाया गया।

अजमेर जिले में गुरुवार को पंजाबी गीतों और पारंपरिक तरीकों से लोहड़ी का पर्व मनाया गया। इस बार सिख समाज ने गुरुद्वारा या सामूहिक स्थानों के बजाय घरों में ही लोहड़ी का त्यौहार मनाया। लोगों ने रेवड़ी, गजक और अन्य प्रसाद भी वितरित किए।

लोहड़ी पर्व पर बच्चों में दिखा उत्साह
लोहड़ी पर्व पर बच्चों में दिखा उत्साह

अजमेर शहर में खास तौर पर लोहड़ी का बड़ा आयोजन हाथीभाटा स्थित गुरु सभा और अलवर गेट स्थित दशमेश गुरुद्वारा में मनाया जाता है। शहर के अन्य गुरुद्वारों में भी इस मौके पर आयोजन होते हैं। इस बार यह आयोजन घरों में ही किए गए। सिख समाज के प्रतिनिधियों ने बताया कि लोहड़ी के त्यौहार का इंतजार हर सिख परिवार में रहता है। मगर इस बार कोरोना के संक्रमण को देखते हुए यह आयोजन गुरुद्वारे के बजाय सिख समाज की ओर से परिवारों में ही मनाने का फैसला लिया, ताकि त्यौहार के इस मौके पर किसी को संक्रमण नहीं हो। सिख परिवारों में शाम को घरों पर ही अग्नि प्रज्वलित की गई और अग्नि को गुड और तिल से बने व्यंजन अर्पण किए गए।

महिलाओं ने पारंपरिक गीतों पर किया डांस।
महिलाओं ने पारंपरिक गीतों पर किया डांस।