पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना का कहर:गरीब नवाज की छठी पर दरगाह खाली, सड़कों पर दुआ

अजमेर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोविड-19 के चलते ख्वाजा साहब की दरगाह में पिछले कई माह से बंद है लोगों की आवाजाही

महान सूफी संत हजरत ख्वाजा मोईनुद्दीन हसन चिश्ती की महाना छठी के मौके पर मंगलवार को दरगाह शरीफ खाली थी, लेकिन दरगाह के बाहर सड़कों पर और गलियों में अकीदतमंद दुआ मांगते नजर आए। दरगाह बाजार में खासी भीड़ थी। कोराना वायरस संक्रमण के चलते दरगाह में जायरीन की आवाजाही बंद है।

ऐसे में छठी की फातिहा में केवल पासधारी खादिम ही शरीक हुए। सुबह 9 बजे दरगाह के अहाता ए नूर में कुरान शरीफ की तिलावत से छठी की फातिहा शुरू हुई। शिजराख्वानी के साथ ही सलातो सलाम पेश किया गया। मुल्क व सूबे में अमन व खुशहाली के साथ ही कोरोना वायरस संक्रमण के खात्मे के लिए दुआ की गई।

इस दौरान दरगाह परिसर पूरा खाली था, जबकि छठी के दिन परिसर पूरा भर जाता था। इस बार दरगाह में अकीदतमंदों के प्रवेश नहीं होने से लोग दरगाह बाजार, लंगर खाना गली, सोलह खंभा और चिश्तिया मार्केट आदि क्षेत्रों में दूर तक खड़े नजर आए। पिछली दो छठियों के मुकाबले अब दरगाह के बाहर लोगों की भीड़ अधिक नजर आ रही है।

हिजरी संवत की आखरी छठी
हिजरी संवत 1441 का अभी 12वां व आखरी महीना जिल हिज्ज चल रहा है। यह इस साल की आखरी छठी थी। अब नए हिजरी साल 1442 में मोहर्रम के मौके पर साल की पहली छठी होगी।

तबर्रुक पर दिलाई नियाज : छठी की फातिहा के बाद दरगाह के बाहर भी अकीदतमंद ने तबर्रूक पर नियाज दिलाई। इस तबर्रुक को पाने के लिए भी अकीदतमंद में होड़ लगी नजर आई।
दरगाह कब खुलेगी, देश के विभिन्न हिस्साें से आ रहे हैं फोन: खादिम सैयद कुतुबुद्दीन सखी ने बताया कि गरीब नवाज के चाहने वालों के देश भर से फोन आ रहे हैं। अकीदतमंद दरगाह आना चाहते हैं। उनका यही सवाल होता है कि दरगाह कब खुलेगी और वे कब जियारत कर सकेंगे। बाहर के जायरीन के साथ ही स्थानीय जायरीन भी दरगाह में हाजिरी देना चाहते हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप में काम करने की इच्छा शक्ति कम होगी, परंतु फिर भी जरूरी कामकाज आप समय पर पूरे कर लेंगे। किसी मांगलिक कार्य संबंधी व्यवस्था में आप व्यस्त रह सकते हैं। आपकी छवि में निखार आएगा। आप अपने अच...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser