• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • Dead Body Found Hanging On The Tree, Written On The Paint Delhi Police Should Investigate; ASI's Name Found In Diary, SP Did The Line Spot

युवक ने थाने के पास किया सुसाइड:चोरी के आरोप में एक दिन पहले ही बाहर आया, पुलिस फिर थाने ले गई, अगले दिन फंदे पर लटका मिला, पैंट पर लिखा सुसाइड नोट

अजमेरएक वर्ष पहले
अजमेर के जवाजा पुलिस थाने से जमानत मिलने के बाद रमेश ने आत्महत्या कर ली। उसने अपनी पैंट पर सुसाइड नोट लिखा।

अजमेर के जवाजा थाना क्षेत्र में एक युवक ने जमानत मिलने के बाद पुलिस थाने के पास सुसाइ़ड कर लिया। युवक पुलिस से परेशान था। अपनी पैंट पर सुसाइड नोट लिखा। इसमें लिखा कि मामले की जांच दिल्ली पुलिस से कराई जाए। साथ ही जेब में मिली डायरी में भी मौत की वजह बताई। घटना शुक्रवार की है, लेकिन ग्रामीणों ने शव नहीं उठाया। शनिवार को पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सुपुर्द किया गया।

जवाजा SHO मानवेन्द्रसिंह भाटी ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है। साथ ही अजमेर SP जगदीश चन्द्र शर्मा ने ASI किशनसिंह को लाइन हाजिर कर दिया है।

दरअसल, राजपुरा बोचान (करला) गांव निवासी रमेश (30) का शव शुक्रवार को जवाजा पुलिस थाने के पास ही पेड़ पर लटका मिला। ग्रामीणों की सूचना पर जवाजा पुलिस मौके पर पहुंची। मृतक की शिनाख्त होने पर परिजन को सूचना दी। रमेश की पैंट पर लिखा था कि उसकी जेब में एक डायरी है, जिसमें उसकी मौत के लिए जिम्मेदारों के नाम है। वहीं, पैंट पर यह भी लिखा था कि उसकी मौत के मामले की जांच दिल्ली पुलिस से कराई जाए।

फंदे पर लटका युवक।
फंदे पर लटका युवक।

रमेश के पिता सुखराम ने बताया कि गांव की ही लक्ष्मीदेवी ने एक लाख 20 हजार रुपए और पांच तोले सोने के जेवरात चोरी का आरोप रमेश पर लगाया था। पुलिस ने बुधवार को रमेश को थाने बुलाया। उसे 151 में गिरफ्तार कर लिया। गुरुवार को उसकी जमानत कराई, लेकिन पुलिस उसे फिर थाने ले गई। रमेश ने बताया कि वह गुरुवार रात को थाने में ही रहेगा। शुक्रवार को उसके फांसी लगाने की सूचना मिली।

इसके बाद ग्रामीणों ने पुलिसकर्मी और चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। ग्रामीणों ने इसे लेकर प्रदर्शन किया और शव उठाने से इनकार कर दिया। इसके बाद पुलिस न एएसआई किशनलाल को लाइन हाजिर कर दिया। मामले में उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया, तब जाकर ग्रामीण शांत हुए। शनिवार सुबह रमेश के शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजन के सुपुर्द किया।

पैंट पर लिखा नोट।
पैंट पर लिखा नोट।

बिजली सुधारने का काम करता था रमेश
रमेश अहमदाबाद में बिजली सुधारने का काम करता था और करीब छह माह से गांव ही आया हुआ था। उसकी शादी हो चुकी है। उसकी पत्नी अहमदाबाद में ही रहती है।

खबरें और भी हैं...