पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सड़कों को जल्द से जल्द दुरूस्त कराने को कहा:देवनानी ने कहा अजमेर स्मार्ट सिटी है या कोई गांव या छोटा कस्बा

अजमेर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अजमेर को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए केंद्र सरकार से आ रहे करोड़ों रुपए आखिर कहां जा रहे हैं। शहर में किसी भी दिशा से प्रवेश करने पर स्मार्ट सिटी नहीं, बल्कि किसी गांव या छोटे कस्बे की तस्वीर सामने आती है।

चारों तरफ से शहर में प्रवेश करते ही सड़कों पर बने हुए बड़े-बड़े गड्ढों से सामना होता है। यह कहना है पूर्व शिक्षा मंत्री व अजमेर उत्तर विधानसभा क्षेत्र के विधायक वासुदेव देवनानी का। उन्होंने जिला कलेक्टर से शहर की सभी सड़कों को जल्द से जल्द दुरूस्त कराने को कहा है।

रविवार को जारी बयान में देवनानी ने कहा कि सड़कों की मरम्मत और पेचवर्क के लिए प्रशासन को मिले लाखों रुपए पानी में बह गए हैं। पिछले दो-तीन दिन से चल रही बरसात में सभी सड़कों पर हुए पेचवर्क पूरी तरह धुल गए हैं। ऐसा लगता है कि इन सड़कों पर कभी पेचवर्क या मरम्मत कार्य कराया ही नहीं गया है। जिन सड़कों पर 20-25 या 15-20 दिन पहले पेचवर्क और मरम्मत कार्य कराए गए थे।

वास्तविक हकदारों को भी मिलें जमीनों के पट्टे

विधायक वासुदेव देवनानी ने कहा है कि जिस तरह कांग्रेस सरकार केवल खानापूर्ति के लिए निकट भविष्य में प्रशासन शहरों के संग अभियान के दौरान लोगों को नियमन कर पट्टे देने का प्लान बना रही है, उससे वास्तविक लोगों को लाभ नहीं मिलेगा।

रविवार को जारी बयान में देवनानी ने कहा कि कांग्रेस सरकार केवल वोटों की राजनीति के मकसद से प्रशासन शहरों के संग अभियान निकट भविष्य में चलाएगी। इस अभियान के दौरान उन लोगों को पट्टे दिए जाने का प्रावधान किया गया है, जो वर्षों से बिना नियमन और पट्टे वाली जमीन पर बसे हुए हैं।

खबरें और भी हैं...