पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • Do Not Become Someone's Life; Father Lost Due To Lack Of Oxygen, So Son Hemant Took The Initiative, Said This Is The True Tribute

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अजमेर में 20 हजार लीटर ऑक्सीजन डोनेट:ताकि किसी की जान पर न बनें; ऑक्सीजन की कमी से पिता को खोया, इसलिए बेटे हेमंत ने की पहल, कहा-यही सच्ची शृद्धांजलि

अजमेर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पिता के साथ हेमंत-फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
पिता के साथ हेमंत-फाइल फोटो

वैश्विक कोरोना महामारी के चलते पूरा देश ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहा है। रोजाना हजारों कोरोना संक्रमित व्यक्ति ऑक्सीजन की कमी के कारण वक्त से पहले दम तोड़ रहे है। ऑक्सीजन के अभाव में कोई अपने माता-पिता को तड़पते हुए देख रहा है तो कोई माता-पिता अपने बच्चों को अपनी आंखों के सामनें दम तोड़ते देख रहे। ऐसे में केंद्र व राज्य सरकारों के साथ-साथ जागरूक लोग भी चिकित्सालयों में ऑक्सीजन की पूर्ति करने के लिए आगे आने लगे है। जिससे कि किसी के माता-पिता, बीबी-बच्चें, भाई-भतीजे की जान बच सके।

ऐसी ही अनुठी पहल की है भारत सरकार के मुंबई स्थित भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र में वैज्ञानिक अधिकारी पद पर सेवारत पुष्कर बड़ी बस्ती निवासी हेमंत पाराशर (ब्रह्मावत) ने। श्री तीर्थ गुरू पुष्कर पुरोहित संघ ट्रस्ट के युवा प्रकोष्ठ के पूर्व अध्यक्ष गोविंद पाराशर के भतीजे हेमंत के पिता सुदेश कुमार पाराशर (56)का गत 6 दिन पूर्व ही निधन हुआ है। रा जकीय स्कूल डींडवाड़ा किशनगढ़ अजमेर में प्रधानाध्यापक पद पर सेवारत सुदेश कोरोना संक्रमित थे। उनकी 18 अप्रैल को कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसके बाद तबीयत बिगडऩे पर उन्हें 24 अप्रैल को अजमेर जेएलएन में भर्ती कराया गया।

ऑक्सीजन की कमी के चलते उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया। हालांकि उनकी 25 अपै्रल को कराई गई फॉलोप जांच रिपोर्ट निगेटिव आई। लेकिन लंग्स में इंफेक्शन होने के कारण सांस लेने में दिक्कत बढ़ती गई और 28 अपै्रल को उनकी मौत हो गई। इस बीच पिता की मौत से व्यथित शोकाकुल बेटे हेमंत के मन में कोरोना संक्रमितों की सहायता करने की प्रेरणा जागी और उसने संक्रमितों की सेवा करने का संकल्प लिया।

इसके चलते उसने क्रेड़ कंपनी के माध्यम से गवर्नमेंट हॉस्पिटल में 20 हजार लीटर ऑनलाईन ऑक्सीजन डोनेट किया। बिना किसी स्वार्थ अथवा लाभ के ऑक्सीजन डोनेट करने पर संबंधित कंपनी की ओर से हेमंत का धन्यवाद भी ज्ञापित किया। हेमंत ने बताया कि वह अपने पिता की जान तो नहीं बचा सका। लेकिन उसके द्वारा डोनेट किए गए ऑक्सीजन से अगर किसी के पिता की जान बचेगी तो यही उसके पिता के लिए सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

उसने बताया कि कोरोना महामारी के चलते देश भर में हालात विकट है तथा ऑक्सीजन की कमी के कारण लोग बे-मौत दम तोड़ रहे है। मैंने भी अपने पिता को खोया है। अब कोई किसी के सिर से पिता का साया नहीं छूटे इसी मकसद को लेकर उसने फिलहाल 20 हजार लीटर ऑक्सीजन डोनेट किया है तथा भविष्य में भी संक्रमितों व उनके परिजनों की हर संभव मदद व सेवा करता रहूंंगा।

(रिपोर्ट : भीकम शर्मा)

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

और पढ़ें