कोरोना से जंग:जिंदगी की जंग में काेराेना का डर अपने पर हावी नहीं हाेने दें

अजमेर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

काेराेना काे कभी भी अपने ऊपर हावी नहीं हाेने दें। जिन्दगी की जंग में काेराेना काे यदि हराना है ताे दिल दिमाग हमेशा खुले रखें। हमेशा पाॅजिटिव बाताें के बारे में साेचें। नियमित व्यायाम करने के साथ अच्छा खान पान रखें। यदि मन में साेच रखी कि हम काेराेना संक्रमित हाे गए। अब हमारा क्या हाेगा।

दवा का नियमित सेवन नहीं किया, काेराेना काे लेकर पेनिक रहे, ताे यही लापरवाही काेराेना संक्रमण बढ़ने का कारण बनेगी। जनता काॅलाेनी निवासी साैरभ कपूर की रिपाेर्ट गत वर्ष जब अगस्त माह में काेराेना पाॅजिटिव आई ताे ऐसा लगा कि सभी बचाव के बावजूद हम पाॅजिटिव कैसे हाे गए। आखिर हम सबसे पहले अस्पताल जाकर दवा लेकर आए। स्वयं काे छत पर बने कमरे में हाेम क्वारेंटाइन किया।

नियमित छत पर ही शुरुआत में दाे किमी जितनी दाैड़ लगाना, धीरे धीरे यह फासला पांच किलाेमीटर का हाे गया। नियमित व्यायाम किया। दस ही दिन में लगा कि शरीर में स्फूर्ति आ रही है। परिवार में आंटी किरणदेवी संक्रमित हुई तब लगा कि यह गलत हाे गया। आज भी याद है यह वाे दिन था जब पड़ाैस के लाेग घर के बाहर काेविड का स्टीकर देख वहां से निकलते भी नहीं थे। ऐसे समय में परिवार के सदस्य एक दूसरे का सहारा बनने के साथ ही कंधे से कंधा मिलाकर साथ खड़े रहे।

खबरें और भी हैं...