पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Ajmer
  • Exercise To Bring Demand supply Of Oxygen Back On Track; Administration Of The Plant At The Right Of Re filling, Every Cylinder Is Being Monitored

...ताकि अजमेर में न हो ऑक्सीजन संकट:ऑक्सीजन की डिमांड-सप्लाई पटरी पर लाने की कवायद; री-फिलिंग के दाेनाें प्लांट पर प्रशासन की नजर, रखा जा रहा हैं एक-एक सिलेंडर का हिसाब

अजमेर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

काेराेना की दूसरी लहर ने प्रदेश में हाहाकार मचा रखा है। अस्पतालों में भारी भीड़ है, ऑक्सीजन औैर जरूरी दवाएं नहीं मिलने के कारण मरीज व उनके परिजन परेशान हैं। अजमेर में ऑक्सीजन का संकट नहीं हो, इसके लिए कलक्टर प्रकाश राजपुरोहित ने ऑक्सीजन की डिमांड-सप्लाई पटरी पर लाने के लिए तैयारी की है।

अजमेर के परबतपुरा औैर गेगल स्थित ऑक्सीजन रिफिलिंग के दाेनाें प्लांट जिला प्रशासन ने अपने कब्जे में लेकर एक-एक सिलेंडर का हिसाब रखना शुरू कर दिया है। वहीं तीन नए प्लांटों से 1000 सिलेंडर प्रतिदिन की व्यवस्था हाे गई है। जबकि अजमेर में राेजाना करीब 3300-3400 सिलेंडर की खपत हाे रही है।

कालाबजारी की लगातार मिल रही थीं शिकायतें

शहर में ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी काे लेकर लगातार शिकायतें मिल रही थीं। 150 से 160 रुपए की बीच रिफिल हाेने वाले सिलेंडर 15-15 हजार व इससे ज्यादा रेट में बिक रहा था। यही नहीं जरूरतमंदों काे खाली सिलेंडर 4 गुणा दामाें में बेचा जा रहा था। एडवांस पैसा देकर सिलेंडर दिया जा रहा था, कई लाेग ऐसे हैं जिन्होंने सिलेंडर वापस जमा नहीं करवाया है। जिला प्रशासन ने ऐसे लाेगाें से कहा है कि खाली सिलेंडर वापस संबंधित गैस एजेंसी काे जमा करवाएं अन्यथा कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

की जा रही हैं यह तैयारियां...

अतिरिक्त जिला कलक्टर सिटी व ऑक्सीजन सिलेंडर डिमांड-सप्लाई के नाेडल अधिकारी गजेन्द्रसिंह राठौड़ ने बताया कि ऑक्सीजन के लिए व्यापक स्तर पर तैयारयां की जा रही है।

  • इन तीन प्लांट से 1000 सिलेंडर प्रतिदिन की व्यवस्था : जयपुर के विश्वकर्मा औद्याेगिक क्षेत्र स्थित अजमेर एयरनाेक कंपनी, सालासर कार्बोनिल औैर सिलाेरा स्थित प्लांट से 1000 सिलेंडर प्रतिदिन की व्यवस्था कर दी गई है। इसके लिए जयपुर से प्रतिदिन 10 किलाेलीटर द्रव्य ऑक्सीजन की लेकर इन प्लांट काे सप्लाई की जा रही है।
  • परबतपुरा औैर गेगल स्थित प्लांट से 2400 सिलेंडर प्रतिदिन : परबतपुरा स्थित अजमेर गैसेस औैर गेगल स्थित गुलजग एयर प्रॉडक्ट प्राइवेट लिमिटेड से प्रतिदिन 2400 सिलेंडर रिफिल हाेकर अस्पताल में सप्लाई हाे रहे हैं। इसमें अजमेर गैसेस से 1600 सिलेंडर औैर 800 सिलेंडर गुलजग से रिफिल किए जा रहे हैं।

केंद्र सरकार की ओर से यह व्यवस्थाएं

  • तकनीक रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) द्वारा लडाकू विमान तेजस के अंदर तैयार किया गया आक्सीजन बनाने का सिस्टम देशभर में 500 स्थानाें पर लगेगा। मेडिकल ऑक्सीजन प्लांट (MOP) कही जाने वाली इस तकनीक से ऑक्सीजन प्लांट PM केयर फंड के अंतर्गत राजस्थान के ऐसे जिलाें में भी लगेगा, जहां संक्रमण की दर ज्यादा हाेने के कारण ऑक्सीजन की खपत लगातार बढ़ते जा रही है। इस तकनीक पर लगे प्लांट में प्रतिदिन 175 सिलेंडर भरे जा सकेंगे। वायुमंडलीय हवा से सीधे ऑक्सीजन पैदा करने के लिए इसमें प्रेशर स्विंग एडजाॅर्पशन तकनीक औैर माेलिव्युलर छलनी का इस्तेमाल किया जाता है।
  • केंद्र सरकार ने राज्य सरकार काे ऑक्सीजन उत्पादकाें की सूची तैयार करने के लिए कहा है। साथ ही बंद पड़े संत्रयाें काे फिर से शुरू करने के निर्देश जारी किए गए हैं। अस्पतालाें में पीएसए संयंत्र लगाने के लिए कहा गया, ऐसे संयंत्राें से वातावरण से ऑक्सीजन का शाेधन हाेता है। इंडस्ट्रीयल ऑक्सीजन काे 93 प्रतिशत शुद्ध करके मेडिकल ऑक्सीजन के ताैर पर इस्तेमाल किए जाने प्रयास जारी हैं।

लघु उद्याेग भारती की अपील - खाली सिलेंडर हैं ताे जमा कराए

लाेहा व इस्पात उद्याेग, दवा कंपनी औैर शीशा उद्याेग सहित अन्य में ऑक्सीजन सिलेंडर का इस्तेमाल किया जाता है। अजमेर में भी लाॅकडाउन से पहले तक इस तरह की 800 से ज्यादा फेक्ट्रियाें में ऑक्सीजन सिलेंडर इस्तेमाल किया जा रहा था, लेकिन इन दिनाें सिर्फ ऑक्सीजन सिलेंडर सिर्फ अस्पतालाें‌ में इस्तेमाल किए जा रहे हैं। लघु उद्याेग भारती के अध्यक्ष वरिष्ठ सीए डाॅ. अजीत अग्रवाल ने काराेबारियाें से अपील की है कि यदि किसी काराेबारी के पास ऑक्सीजन के खाली सिलेंडर रखे हैं, ताे उन्हें शीघ्र अतिशीघ्र जिला प्रशासन काे जमा करवा दें। खाली ऑक्सीजन सिलेंडर रिफिल हाेने के बाद मरीजाें के लिए काम में लिए जा सकेंगे। पर्याप्त खाली सिलेंडर हाेंगे ताे रिफिलिंग के बाद अस्पतालाें में ऑक्सीजन की सप्लाई प्राॅपरली हाे सकेगी।

डाॅक्टर की सलाह पर सिलेंडर लेने के लिए यहां करें संपर्क

यदि आपकाे डाॅक्टर की सलाह पर ऑक्सीजन सिलेंडर चाहिए ताे यहां से प्राप्त करें - प्रिस्क्रिप्शन, काेविड रिपाेर्ट औैर आधार कार्ड है जरूरी। जिला प्रशासन द्वारा इन्हें 20-20 बड़े औैर 30-30 छाेटे ऑक्सीजन सिलेंडर सप्लाई करने के लिए कहा गया है।

  • सुनील खंडेलवाल 9414002077
  • चर्चित मेडिकल पुलिस लाइन - 7270060000

यदि काेई परेशानी है ताे इन नंबराें पर करें संपर्क

  • कंट्राेल रूम मेडिकल - 0145-2620020, 2631111
  • कंट्राेल रूम जिला कलेक्ट्रेट - 0145-2422517

(रिपोर्ट: अतुल सिंह)

खबरें और भी हैं...