पटाखों और अंगारों की होली, VIDEO:300 साल पुरानी परंपरा, एक-दूसरे पर फेंकते हैं पटाखे, निकलती है घास भेरू की सवारी

अजमेर24 दिन पहले
घास भेरू की सवारी के दौरान एक-दूसरे पर पटाखे और अंगार फेंकते लोग।

अजमेर जिले के केकड़ी में घास भेरू की सवारी निकाली गई। परंपरा के अनुसार एक दूसरे पर जमकर पटाखें फेंके गए। इस दौरान भीड़ को खदेड़ने के लिए पुलिस ने कई बार हल्का बल प्रयोग किया। इस बीच कुछ युवकों को पुलिस ने पकड़ा भी।

केकड़ी में गोवर्धन पूजा की रात को घास भेरू की सवारी के दौरान परंपरा के चलते लोग एक दूसरे पर पटाखे फेंक कर अंगारों की होली खेलते रहे। यह करीब 300 साल पुरानी पंरपरा है। इसमें पहले घास भेरू की सवारी निकाली जाती है। इसके बाद आमने-सामने मौजूद दो पक्षों के लोग एक-दूसरे पर पटाखे और अंगार फेंकते हैं। इस दौरान पटाखों की आतिशबाजी से कई लोग भी झुलसे। स्थानीय लोगों का कहना है कि इस खेल को खेल की तरह लेना चाहिए, न कि किसी को विशेष नुकसान पहुंचाना चाहिए।

भीड़ को खदेड़ने के लिए पुलिस ने कई बार हल्का बल प्रयोग किया।
भीड़ को खदेड़ने के लिए पुलिस ने कई बार हल्का बल प्रयोग किया।

पुलिस और प्रशासन की ओर से दिनभर और रात के समय पुख्ता बंदोबस्त किए गए। घास भेरू की सवारी के दौरान युवाओं ने एक-दूसरे पर जमकर खतरनाक पटाखे फेंके। प्रशासन और पुलिस की सख्ती के चलते माहौल में काफी नरमी रही।

प्रशासन और पुलिस की सख्ती के चलते माहौल में काफी नरमी रही।
प्रशासन और पुलिस की सख्ती के चलते माहौल में काफी नरमी रही।

मौके पर एएसपी घनश्याम शर्मा, डिप्टी खींव सिंह, सिटी थाना अधिकारी सुधीर कुमार उपाध्याय, सदर थाना अधिकारी राजेश कुमार मीणा सहित अतिरिक्त पुलिस बल का जाब्ता मौजूद रहा। एएसपी घनश्याम शर्मा ने बताया कि लोगों ने एक दूसरे पर पटाखे फेंके, जिन्हें रोकने के लिए हल्का बल प्रयोग कर खदेड़ा गया।

खबरें और भी हैं...