पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

प्रेम प्रसंग:पहले प्यार फिर किया अपहरण; प्रेमी गया जेल, प्रेमिका नारी निकेतन, अब लिव इन रिलेशनशिप में रहेंगे दाेनों

मदनगंज-किशनगढ़8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सुनील चौधरी और पूजा जैसवाल। - Dainik Bhaskar
सुनील चौधरी और पूजा जैसवाल।

कहते है कि प्यार में सब जायज है। शादी शुदा होने के बाद आरोपी सुनील चौधरी ने गत दिनों हाउसिंग बोर्ड स्थित बंग मैरिज हॉल के पास प्रेम प्रसंग को लेकर फिल्मी स्टाइल में बंदूक की नाेंक पर युवती पूजा का अपहरण किया। अपने कृत्य के लिए चौधरी जेल भी गया।

इधर प्यार में फंसी पूजा ने भी घर जाने के बजाय नारी निकेतन जाने का रास्ता चुना। कृत्य से दुखी होकर पिता महावीर ने सुनील चौधरी को अपनी संपत्ति से बेदखल कर दिया। इसके बावजूद दोनों का प्यार डिगा नहीं। अब कानूनी अड़चनों को देखते हुए चौधरी और पूजा ने लिव इन रिलेशनशिप में रहने का फैसला किया है। कानूनी पहलू को देखे तो पूजा और चौधरी के रिश्ते को उसकी पहली पत्नी कानूनी रुप से कार्यवाही नहीं कर सकती है। इधर पूजा ने नारी निकेतन की प्रभारी ममता पर भी दबाव डालने का आरोप लगाया है। भास्कर ने पूजा और चौधरी से किशनगढ़ में अपने वकील नवीन बैरवा से बात करने आए थे, उस दौरान संपूर्ण प्रकरण में बातचीत की है, जिसके अंश प्रस्तुत है।

प्रेमिका पूजा से सवाल- जवाब

5 मार्च को क्या हुआ था?
मैंने ही घटना के दिन 5 मार्च को सुनील को कॉल करके मुझे यहां से लेकर चले जाने की बात कहीं थी। वह मुझे लेने आया तो मेरे पिता सुभाष जैसवाल ने डंडे से सुनील के सिर पर मार दी। घर पर जो खून मिला था वह सुनील का था।

सुनील के शादीशुदा होने के बाद क्यों किया प्यार ?
मुझे पहले उसके शादीशुदा होने का पता नहीं था, बाद में पता चला। जब पता चला तब तक सुनील के बिना रहना संभव नहीं था। इसके चलते उसके साथ ही जीवन गुजारने का फैसला किया। शादी नहीं कर सकते है तो क्या? लिव इन रिलेशनशिप में साथ रहेंगे।

फिर विवाद की क्या जरूरत थी?
मुझे घर से बाहर निकलने ही नहीं दिया जाता था। मुझ पर घर वालों ने दबाव बनाया। जबरन मुकदमा दर्ज कराने के लिए कहते थे। मैं घर से बाहर निकलती तो घर वाले साथ रहते। इसलिए मैंने सुनील को बुलाया और उसके साथ चली गई।

अब क्या परिवार वालों से मिलना चाहेंगी?
नहीं मैं नहीं जाऊंगी। अब परिवार वाले मिलना चाहते है तो मेरे दरवाजे खुले हैं। मेरा परिवार अब सुनील ही है।

नारी निकेतन में कैसे कटे दिन ?
मुझे बार-बार यह कहा जाता था कि लड़के को जेल हो गई। तुम अपने मम्मी-पापा के पास ही जाओ। वहां की अधीक्षक ममता पूनिया ने ही भी घर जाने का दबाव मनाया था।

प्रेमी सुनील से सवाल-जवाब

5 मार्च की वारदात क्यों हुई, बातचीत भी की जा सकती थी?
समझाने के लिए दो तीन बार प्रयास कर चुका थी। लेकिन पूजा के पिता तैयार नहीं थे। पूजा ने विषाक्त लिया तब में अस्पताल गया था। तब मेरा गला दबाया मारपीट की। हमें बात नहीं करने देते थे। हमें भ्रमित किया गया।

आप पहले से शादीशुदा हैं, आपके तीन बच्चे है, क्या पत्नी को तलाक देंगे?
मैं तलाक नहीं लूंगा ना ही दबाव डालूंगा। अपनी इच्छा से तलाक लेना चाहे तो ले सकते हैं। संपत्ति भी उन्हीं के नाम होगी। मुझे तो बेदखल कर दिया। मैं लीगल प्रोसेस पर चलूंगा। अब संपत्ति से तो बेदखल कर ही दिया हैं। मैं स्वयं काम करूंगा।

शादीशुदा के बावजूद रह सकता है साथ
कानूनी रूप से शादीशुदा होने के बाद भी सुनील पूजा के साथ लिव इन रिलेशनशिप में रह सकता है। भविष्य में इनके कोई संतान होती है तो पहली पत्नी संतोष कानून का सहारा ले सकती हैं। सुनील के पिता की संपत्ति में पहली पत्नी संतोष का ही अधिकार रहेगा। पूजा का नहीं।
परमानंद शर्मा, एडवोकेट

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- ग्रह स्थिति अनुकूल है। मित्रों का साथ और सहयोग आपकी हिम्मत और हौसले को और अधिक बढ़ाएगा। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी काबू पाने में सक्षम रहेंगे। बातचीत के माध्यम से आप अपना काम भी निकलवा लेंगे। ...

    और पढ़ें