मसीह समाज:आया है वो आया है, मुक्ति का मार्ग बताने को

अजमेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आया है वो आया है, मुक्ति का मार्ग बताने को..., वो चरनी में आया है, खुशियों को लाया है.. सहित अन्य कई मसीह से जुड़े कैरल सांग इन दिनों मसीह समाज के परिवारों में गूंज रहे हैं। दरअसल प्रभु यीशु के जन्म का संदेश देने के लिए युवाओं की टोलियां इन दिनों मसीह समाज के परिवारों और घरों के बाहर दस्तक दे रहे है।

यीशु के आने का संदेश दे रहे हैं। भट्‌टा स्थित सात दुखों की माता चर्च के फादर कॉसमास शेखावत ने बताया कि परंपरा के अनुसार 13 दिसंबर से चर्च एवं आसपास के मसीह परिवारों को प्रभु यीशु के जन्म दिवस की अग्रिम शुभ सूचना देने के लिए कैरल सिंगिंग की शुरुआत हो चुकी है। चूंकि अभी भी कोरोना संक्रमण का खतरा बरकरार है। इसलिए युवाओं की टोलियां घरों में जाने के बजाए खुले एवं सामूहिक स्थानों पर यह कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे है। क्रिसमस के पहले तक यह आयोजन होते रहेंगे।
जरूरतमंदाें की करेंगे मदद
विभिन्न चर्चों में अलग-अलग दिन जरूरतमंद, निर्धन परिवारों को क्रिसमस के लिए उपहार, खाद्य सामग्री और उपहार दिए जाते हैं। कई चर्चों में यह रस्म रविवार के दिन व्हाइट गिफ्ट संडे के नाम से भी जानी जाती है। वहीं कई परिवारों में क्रिसमस सेलिब्रेट करने की तैयारियों को पूरा करने की शुरुआत कर दी गई है।

खबरें और भी हैं...