पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आरएस अस्पताल की करतूत:अस्पताल में 20 मरीज भर्ती और बताए 36, ऑक्सीजन के 90 सिलेंडर की मांग

अजमेरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रशासन ने जांच की तो मिली खामियां, आरएस अस्पताल, कोटड़ा को नोटिस

अजमेर विकास प्राधिकरण के आयुक्त और रेमडेसिविर व ऑक्सीजन उपलब्धता के नोडल अधिकारी अक्षय गोदारा ने कोटड़ा स्थित आरएस अस्पताल को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। अस्पताल की ओर से मरीजों की संख्या 36 बताते हुए 90 आक्सीजन सिलेंडर की मांग की गई थी, जबकि अस्पताल में कुल 20 मरीज ही थे। इसके अलावा भी कई कमियां पाई गईं। अस्पताल प्रशासन को 3 दिन में जवाब प्रस्तुत करने को कहा गया है।

एडीए आयुक्त अक्षय गोदारा ने बताया कि उन्होंने जेएलएन अस्पताल की सीनियर प्रोफेसर डॉ. वीना माथुर के साथ आरएस अस्पताल का आकस्मिक निरीक्षण किया तो कई खामियां सामने आई हैं। अस्पताल में वार्ड बहुत छोटे-छोटे हैं तथा मरीजों के पलंग पास-पास लगाए गए हैं। वार्डों में मरीजों के साथ उनके अटेंडेंट की काफी भीड़ पाई गई, जिसके कारण अटेंडेंट में संक्रमण फैलने की संभावना है।

चिकित्सालय में अपनी रिपोर्ट में 36 मरीज भर्ती होना बताया है जबकि मौके पर निरीक्षण में 20 मरीज ही भर्ती पाए गए। अस्पताल में 36 मरीजों को भर्ती करने लायक जगह ही नहीं है। उन्होंने बताया कि चिकित्सालय ने 36 मरीजों के लिए 75 बड़े और 15 छोटे ऑक्सीजन सिलेंडर की मांग की है। जबकि वहां 20 ही मरीज भर्ती थे। इनमें भी सिर्फ 18 मरीज ही ऑक्सीजन सपोर्ट पर थे।

चिकित्सालय द्वारा अनावश्यक रूप से ऑक्सीजन सिलेंडरों की बढ़ा-चढ़ा कर मांग के जरिए प्रशासन पर अनावश्यक दबाव बनाया जा रहा है। यह महामारी के समय असहयोग को दर्शाता है। गोदारा ने अस्पताल प्रशासन को तीन दिन में जवाब प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं।

खबरें और भी हैं...