फर्जी डॉक्यूमेंट की सर्टिफाइड कॉपी इश्यू:IG-DIG स्टेम्प ने दिए कार्रवाई के आदेश, केन्द्रीय अभिलेखागार के प्रभारी ने कराई FIR

अजमेर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सिविल लाइन थाना पुलिस मामले की जांच में जुटी - Dainik Bhaskar
सिविल लाइन थाना पुलिस मामले की जांच में जुटी

पंजीयन एवं मुद्रांक विभाग अजमेर के केन्द्रीय अभिलेखागार की ओर से फर्जी दस्तावेज की प्रमाणित प्रति जारी करने में का मामला सामने आया है। इस पर आईजी-डीआईजी स्टैम्प ने भ्रष्ट आचरण एवं पद का दुरूपयोग करने के मामले पर कार्रवाई के निर्देश दिए। केन्द्रीय अभिलेखागार के प्रभारी की ओर से सिविल लाइन थाने में मामला दर्ज कराया है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

केन्द्रीय अभिलेखागार वृत- अजमेर के प्रभारी अधिकारी व बीके कोल नगर अजमेर निवासी जय प्रकाश पुत्र नाथूलाल ने सिविल लाइन थाने में रिपोर्ट देकर बताया कि प्लाट नं. सी-5 विजय बसन्त वाटिका, सीकर निवासी दिनेश कुमार मल्होत्रा ने शिकायत दी कि उपमहानिरीक्षक पंजीयन एवं मुद्रांक वृत-अजमेर के केन्द्रीय अभिलेखागार द्वारा कुटरचित दस्तावेज की प्रमाणित प्रति जारी की गई। इसके लिए पंजीयन एवं मुद्रांक विभाग के महानिरीक्षक व उपमहानिरीक्षक ने मुकदमा दर्ज कराने के आदेश दिए। सिविल लाइन थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच एएसआई हरिमोहम्‍मद को सौंपी गई है।

नसीराबाद सिटी थाना पुलिस जांच में जुटी
नसीराबाद सिटी थाना पुलिस जांच में जुटी

फर्जी पावर आफ अर्टोनी से कराई रजिस्ट्री

अजमेर जिले के नसीराबाद में फर्जी पावर आफ अर्टोनी से रजिस्ट्री कराने का मामला सामने आया है। सुरजपुरा-नसीराबाद निवासी किशन पुत्र लाला जाट (80) ने रिपोर्ट देकर बताया कि उसकी जमीन का सुरजपुरा निवासी कालू पुत्र चतरा द्वारा 19 दिसम्बर 2022 को फर्जी पावर आफ अर्टोनी तैयार कर फर्जी हस्ताक्षर अंगूठा कर इन्द्रा पत्नि घीसा व भूरी पत्नि रामराज के नाम फर्जी रजिस्ट्री करा दी। जमीन हड़पने के लिए जालसाजीपूर्वक फर्जी कागजात तैयार किए। रामसिंह पुत्र नारायण जाट व हरिराम पुत्र रंगलाल जाट ने गवाह बनकर फर्जी पावर आफ अर्टोनी और फर्जी रजिस्ट्री कराई। नसीराबाद सिटी थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पढे़ं ये खबर भी...

घूसखोर ASP दिव्या अजमेर जेल में नंगे पैर घूम रही:महिला बंदियों के साथ लाइन में खड़ी दिखी; 2 करोड़ की मांगी थी रिश्वत

लग्जरी लाइफ जीने वाली गिरफ्तार स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SOG) की एडिशनल एसपी का रुतबा कल तक पूरे राजस्थान में चलता था। वह अब अपने काले कारनामों के चलते अजमेर की सेंट्रल जेल में बंद है। जेल के अंदर का दिव्या मित्तल का एक फोटो सामने आया है। इसमें मित्तल जेल में नंगे पैर लाइन में खड़ी दिख रही है। सर्द मौसम में सीमेंट के फर्श पर नंगे पैर खड़ी दिव्या का फोटो सोशल मीडिया पर भी खूब शेयर किया जा रहा है। दिव्या 3 फरवरी तक न्यायिक हिरासत में ही रहेंगी। (पूरी खबर पढ़ने के लिए करें क्लिक)